Diwali in 2019: इस प्रकार की पूजा से ही माॅं लक्ष्मी होगीं प्रसन्न

Diwali in 2019: इस प्रकार की पूजा से ही माॅं लक्ष्मी होगीं प्रसन्न

176 Views

Diwali in 2019 का त्यौहार समस्त भारतवासियों के लिए बहुत ही हर्षोल्लास का त्योहार है। धर्म निरपेक्ष राष्ट्र भारत में जहां समस्त हिन्दू परिवार दिवाली को बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं, वहीं अन्य धर्म के लोग भी इस खुशी में शामिल होकर दीपावली के शुभ त्यौहार को बड़ी खुशी और जश्न के साथ मनाते हैं।

दीपावली के त्योहार को मनाने के पीछे चले आ रहे इतिहास के बारे में तो सभी जानते हैं। सभी को पता है कि भगवान राम जब अपना वनवास पूरा करके आयोध्या लौटे थे, तो उसी खुशी में आयोध्या वासियों ने घरों घर दिए जला कर उनका स्वागत किया था। और तब से ही हर साल की तरह दिए जलाकर दिवाली का पवित्र त्यौहार मनाया जाता है। चलिए जानते हैं Diwali in 2019 पर शुभ मुहूर्त और पूजा विधि के बारे में…

मां लक्ष्मी होगीं प्रसन्न

Maa laxmi will be happy
Diwali in 2019 Maa laxmi will be happy

यह सभी जानते हैं कि Diwali in 2019 का त्योहार माता लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने का सबसे उपयुक्त समय होता है।

यही वह दिन है जब आप अपने कर्मकाण्ड के माध्यम से माॅं लक्ष्मी को प्रसन्न कर सकते हैं,

और घर व परिवार में चल रही आर्थिक स्थिति को सुधार सकते हैं।

इतना ही नहीं अगर मां लक्ष्मी आपसे प्रसन्न होती हैं तो आपके घर की सारी समस्या पल भर में समाप्त हो जाएगी।

लेकिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए आपको बहुत सी बातों का ध्यान रखना होगा।

साथ ही पूजा के दौरान पूजा विधि के माध्यम से ही माता लक्ष्मी को खुश किया जा सकता है।

तो चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से..

diwali gifts for family: दिवाली पर दुगनी खुशियों के लिए आजमाए देसी गिफ्ट टिप्स

पूजन सामग्री में करे इन्हे शामिल

Diwali in 2019 worship material
Diwali in 2019 worship material

दिवाली मां लक्ष्मी जी को खुश करने का अहम दिन माना गया है। यही वह दिन है,

जब आप मां लक्ष्मी जी को खुश करके अपनी सारी आर्थिक स्थिति को सुधार सकते हैं।

इसके लिए सबसे पहले पूजा विधि में शामिल होने वाली पूजन सामग्री के बारे में जान लें।

पूजा के दौरान आप लाल – गुलाबी एवं पीले रंग के कपड़े का प्रयोग करें।

इसके साथ ही आप फूलों में कमल के फूल को अवश्य शामिल करें। फल में आप श्रीफल,

सीताफ, बेर, अनार व सिंघाडे भी साथ रखें। सुगधं के लिए आप केवड़ा,

चंदन के इत्र का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अनाज में चावल और मिठाई में घर में बनी,

शुध्द पूर्ण केसर युक्त मिठाई का ही भोग लगाएं। दिए में गाय का शुध्द देशी घी का ही प्रयोग करें।

इसके अलावा आप मूंगफली या तिल्ली के तेल का भी प्रयोग कर सकते हैं। इसके अलावा आप गन्ना,

कमल गट्टा, खड़ी हल्दी, बिल्वपत्र, पंचामृत, गंगाजल, ऊन का आसन, रत्न आभूषण,

गाय का गोबर, सिन्दूर, भोजपत्र का इस्तेमाल करें।

Dhanteras: धनतेरस पर सोच रहे खरीदारी करने को तो भूल से भी ये चीज न खरीदें

ऐसे करें पूजा की तैयारी

Prepare for worship in this way
Prepare for worship in this way

पूजा करने से पहले उसकी तैयारी के बारे में भी जान लें तो पूजा करने में आसानी होगी।

सबसे पहले तो चैकी पर मां लक्ष्मी जी और गणेश जी की मूर्ति इस प्रकार रखें कि उनका मुख,

पश्चिम या पूर्व में रहे। लक्ष्मीजी, गणेश जी की दाहिनी ओर रहें। जो भी पूजा कर रहे हैं,

वह मूर्तियों के सामने की तरफ ही बैठें। कलश को लक्ष्मी जी के पास चावलों के छोटे से ढेर पर ही रखें।

नारियल को लाल वस्त्र या जो वस्त्र आपको बताया गया है उसमें इस प्रकार लपेटें कि,

नारियल का अग्रभाग दिखाई देता रहे व इसे कलश पर रखें। बतादें की यह कलश वरूण का प्रतीक है।

अब दो बड़े दीपक रखें। एक में घी भरें व दूसरे में तेल। एक दीपक चैकी के दांई और रखें व दूसरा मूर्तियों के चरणों में।

इसके अतिरिक्त एक दीपक गणेशजी के पास रखें।

lakshmi puja: दिवाली पर इन चार चीजों से सजाएं अपने घर को, माता लक्ष्मी दौड़ी चली आएंगी

पूजा की तैयारी में इसका भी रखें ध्यान

Keep this in mind while preparing for worship
Keep this in mind while preparing for worship

मूर्तियों वाली चौकी के सामने छोटी चौकी रखकर उस पर लाल वस्त्र बिछाएं।

कलश की ओर एक मुट्ठी चावल से लाल वस्त्र पर नवग्रह की प्रतीक नौ ढेरियां बनाएं।

गणेशजी की ओर चावल की सोलह ढेरियां बनाएं। ये सोलह मातृका की प्रतीक हैं।

नवग्रह व षोडश मातृका के बीच स्वस्तिक का चिह्न बनाएं। इसके बीच में सुपारी रखें,

व चारों कोनों पर चावल की ढेरी। सबसे ऊपर बीचोंबीच ॐ लिखें। छोटी चौकी के सामने,

तीन थाली व जल भरकर कलश रखें। थालियों की निम्नानुसार व्यवस्था करें,

1. ग्यारह दीपक, 2. खील, बताशे, मिठाई, वस्त्र, आभूषण, चन्दन का लेप, सिन्दूर, कुंकुम, सुपारी, पान,

3. फूल, दुर्वा, चावल, लौंग, इलायची, केसर. कपूर, हल्दी.चूने का लेप, सुगंधित पदार्थ, धूप, अगरबत्ती, एक दीपक।

इन थालियों के सामने यजमान बैठे। आपके परिवार के सदस्य आपकी बाईं ओर बैठें।

कोई आगंतुक हो तो वह आपके या आपके परिवार के सदस्यों के पीछे बैठे।

Diwali in 2019 की पूजा विधि
Diwali in 2019 Puja Vidhi
Diwali in 2019 Puja Vidhi

पूजा विधि को बड़े ही ध्यानपूर्वक करें। सबसे पहले भागवान गणेश जी, लक्ष्मी जी का पूजन करें।

उनकी प्रतिमा के आगे 7, 11 अथवा 21 दीपक जलांए। अब मां को भोग लगाकर उनकी आरती करें।

श्रीसूक्त, लक्ष्मीसूक्त व कनकधारा स्त्रोत का पाठ करें। इस तरह से आपकी पूजा पूर्ण होती है।

और पूजा पूर्ण होने के बाद मां से जाने-अनजाने में हुए सभी भूलों को माफ करने के लिए प्रार्थना करें।

उनसे बोलें कि मां न मैं आव्हान करना जानता हूॅं न ही विसर्जन करना। पूजा कर्म भी मैं नहीं जानता।

हे परमेश्वरि मेरी गलतियों के लिए मुझे क्षमा करो। मंत्र, क्रिया और भक्ति से रहित जो कुछ पूजा मैंने की है,

हे मां वह मेरी पूजा सम्पूर्ण हो, और अपना आशीर्वाद दें।

Diwali in 2019 शुभ मुहूर्त

सबसे प

Diwali in 2019 auspicious time
Diwali in 2019 auspicious time

पहले तो आप यह जान लें कि इस वर्ष यानि Diwali in 2019 का शुभ त्यौहार अक्टूबर माह में 27 तारीख दिन रविवार को है।

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त दृ शाम 7 बजकर 15 मिनट से 8 बजकर 36 मिनट तक

प्रदोष काल. शाम 6 बजकर 4 मिनट से 8 बजकर 36 मिनट तक

वृषभ काल. शाम 7 बजकर 15 मिनट से 9 बजकर15 मिनट तक

दिवाली 2019 चौघड़िया , लक्ष्मी पूजा चौघड़िया 2019

दोपहर शुभ पूजा मुहूर्त. 1 बजकर 48 से 3 बजकर 13 मिनट तक

All story image source from Google

लगातार ऐसी जानकारी पाने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी Religion अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए। नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

जानकारी को सबसे पहले अपने दोस्तों तक पहुंचने के लिए नीचे दिए सोशल मीडिया की मदद ले और शेयर करे ।

इस तरह की खबरों को सबसे पहले पढ़ने के लिए ‘सब्सक्राइब’ करे।


Leave a comment