This measure of Thursday's solution will remove every obstacle in your marriage.

आपके विवाह में आने वाली हर बाधा को दूर करेगा गुरूवार का यह उपाय 

726 Views

हिन्दू धर्म में सभी दिनों को विशेष माना जाता है हर दिन किसी न किसी देवी देवता और ग्रहों से संम्बन्धित होता है. आज हम बात कर रहे हैं गुरूवार की जो ब्रहस्पति ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है. जिस व्यक्ति का ब्रहस्पति ग्रह कमजोर होता है यदि वह गुरूवार का व्रत रखता है या पूजा करता है तो इससे ब्रहस्पति ग्रह को बल मिलता है. तथा इससे व्यक्ति के रिश्ते भी मजबूत होते हैं.

शास्त्रों में एक ऐसा उपाय दिया गया है जिसे गुरूवार के दिन करने से आपके विवाह में आ रही बाधा को दूर कर सकते हैं और या जिन लोगों के रिश्तों में किसी कारण से दूरियां उत्पन्न हो गयीं हैं या रिश्ते टूट गए हैं वह अपने टूटे रिश्तों को फिर से जोड़ सकते हैं साथ ही अपना वैवाहिक जीवन खुशहाल बना सकते हैं तो आइये जानते हैं वह उपाय कौन सा है.

ये उपाय कराएगा आपकी शादी

गुरूवार के दिन प्रातः जल्दी उठकर स्नानादि करने के पश्चात पीला वस्त्र धारण करके किसी भी नवग्रह के मंदिर में जायें व वहां जाकर ब्रहस्पति देव का केसर मिश्रित दूध व गंगाजल से अभिषेक करें.

इसके पश्चात ब्रहस्पति देव को पीले फूल पीला चंदन पीला वस्त्र हल्दी से रंगी हुई जनेऊ व पीले अन्न आदि उन्हें अर्पित करें इसके बाद ब्रहस्पति देव की प्रतिमा के समक्ष

बैठकर इस मंत्र का जाप करें

जीवश्चाङ्गिर-गोत्रतोत्तरमुखो दीर्घोत्तरा संस्थित:
पीतोश्वत्थ-समिद्ध-सिन्धुजनिश्चापो थ मीनाधिप:।
सूर्येन्दु-क्षितिज-प्रियो बुध-सितौ शत्रूसमाश्चापरे
सप्ताङ्कद्विभव: शुभ: सुरुगुरु: कुर्यात् सदा मङ्गलम्।।

मंत्र का 108 बार जाप करें

का 108 बार जाप कर घी व कपूर से ब्रहस्पति देव की आरती करने के बाद अनजाने में की गई गलती की क्षमा मांगे व उनके प्रसाद का वितरण करें. इसके बाद अपनी स्वेच्छा के अनुसार ग़रीबों को पीले वस्त्र और पीली वस्तुओं का दान करें.

हमारे सोशल परिवार का हिस्सा बनने के लिए आगे दिए सोशल मीडिया पर क्लिक कर फॉलो करें: FACEBOOK व TWITTER

भविष्य में आने वाली नयी सरकारी जॉब्स के अपडेट से बने रहने के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) जरुर करें.

नीचे दी गयी स्टोरी भी पढ़े:

भारत का यह ख़ास मंदिर जहाँ माता खुले में विराजमान है, जानें आखिर क्यों इस मंदिर की छत नहीं है

हनुमान जयंती 2018: तो इसलिए मनायी जाती है हनुमान जयंती, जानें पूजा-विधि और इसका महत्व

यहां देखें मार्केट से कम कीमत में शॉपिंग प्रोडक्ट्स

[amazon_link asins=’B07C9BGKYJ,B01MEFPUI7,B008PTTXJW’ template=’ProductCarousel’ store=’desidozz20-21′ marketplace=’IN’ link_id=’ef329f4f-335c-11e8-95b9-13be05c8a91b’]

Leave a comment