Get started with the Paltry Farm and start earning Rs 70 lakhs in this way.

पोल्ट्री फाॅर्म से करें बिजनेस की शुरुआत और इस तरह कमायें 70 लाख रूपए

Business
338 Views

देश में बेरोजगारों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है, और सरकार के पास इतनी नौकरी नहीं है कि वह सारे बेरोजगारों को नौकरी दे। इसलिए सरकार बेरोजगारों की कमाई के लिए कई सारी योजनाएं लेकर आ रही है जिसके माध्यम से हर बेरोजगार कोई न कोई कमाई का रास्ता खोज सकता है।

आज हम आपसे कुछ इसी सिलसिले में चर्चा करने वाले हैं। यहां पर हम एक ऐसे व्यापार के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी शुरूआत कोई भी कर सकता है। इस व्यापार के माध्यम से आप भी हर माह लाखों रूपये कमा सकते हैं। दरअसल हम जिस व्यापर के बारे में आपसे चर्चा करने वाले हैं वह पोल्ट्री का व्यापार है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से….

तुलसी के पौधे से हर तीन महीने में कमाएं 3 लाख रूपये

पोल्ट्री बिजनेस में सरकार करेगी सहायता

Government will help in poultry farm
Government will help in poultry farm

जी हां यह एक ऐसा बिजनेस ही जिसकी सहायता सरकार भी करेगी। सरकारी एजेंसी,

नाबार्ड नेशनल बैंक फाॅर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट के द्वारा आपके पाॅल्ट्री बिजनेस को पूरा सपोर्ट किया जाता है।

बस इसके लिए जरूरी है कि आपको इसके लिए पूरी जानकारी होना चाहिए।

तो चलिए जानते हैं इस बिजनेस के बारे में और कैसे सरकार आपकी इस बिजनेस के लिए मदद करेगी?

LIC की इस  पाॅलिसी में मात्र 14 रूपए खर्च कर 15 लाख रूपए प्राप्त कर सकते हैं

दो तरह का होता है पोल्ट्री बिजनेस

अगर आप पोल्ट्री बिजनेस करना चाहते हैं तो सबसे पहले यह जान लें की यह बिजनेस दो तरह का होता है। एक अंडो वाला और दूसरा मुर्गों वाला। यदि आप अंडो का बिजनेस करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको लेयर मुर्गियों को पालना करना होगा। इसके अलावा अगर आप चिकन का बिजनेस करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको ब्रायलर मुर्गियां पालनी होगीं। अब यह आपको डिसाइड करना है कि आप कौन सा बिजनेस करना चाहते हैं।

AirAsia India offers: 1399 रुपए में करें अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा

नाबार्ड द्वारा तैयार किया गया प्रोजेक्ट माॅडल

पोल्ट्री फाॅर्म के लिए नेशनल बैंक फाॅर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट यानि की नाबार्ड ने एक माॅडल प्रोजेक्ट्स तैयार किया है जिसके मुताबिक यदि आप पाॅल्ट्री ब्रायलर फार्मिंग करना चाहते हैं और कम से कम 10 हजार मुर्गियों से इस बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 4 से 5 लाख रूपए की जरूरत पड़ेगी। इसके अलावा हम आपको यह बतादें की बैंक आपको लगभग 75 फीसदी यानी 27 लाख रूपये तक का लोन मुहैया कर सकता है।

Sukanya Samriddhi Yojana Update: मोदी सरकार का बड़ा उपहार

40 से 42 लाख रूपये तक बैंक करेगा मदद

अगर आप 10 हजार मुर्गियों से पाॅल्ट्री फार्मिंग की शुरूआत करना चाहते हैं तो आपको इसके लिए 10 से 12 लाख रूपए तक का इंतजाम करना होगा और बैंक से आपको 40 से 42 लाख रूपए तक का लोन मिल सकता है। बैंक से आसानी से लोन लेने के लिए आप नाबार्ड कंसलटेंसी सर्विस की सहायता भी ले सकते हैं। ऐसा करने से आपको लोन लेने में आसानी होगी और ज्यादा परेशान भी नहीं होना पड़ेगा।

सरकारी कर्मचारियों की बढ़ी मुसीबत, तनख्वाह में होगी अब इस प्रकार की कटौती

पोल्ट्री फाॅर्म से होने वाली कमाई

पोल्ट्री फाॅर्म के लिए नाबार्ड द्वारा एक पूरा प्रोजेक्ट तैयार किया गया है जिसके मुताबिक एक स्वस्थ चूजा 16 से 18 रूपए में मिल जाता है। और ब्रायर चूजा पौष्टिक आहार मिलने पर 40 दिनों में 1 किलो का हो जाता है। वहीं लेयर ब्रिड के चूजे 4 से 5 महीने में अंडे देना शुरू कर देते हैं और औसतन डेढ़ साल तक लगभग 300 अंडे देते हैं। नाबार्ड के मुताबिक आप ब्रायलर फार्मिंग में 70 लाख रूपए तक कमाई कर सकते हैं जिसमें आपकी लागत 64 से 65 लाख रूपए की रहेगी।

सरकार की इस नई स्कीम से आप भी बन सकते हैं करोड़पति

जल्द ही शुरू होने वाली है भारत में बिकनी एयरलाइंस की सुविधा

थोड़े से पैसोे का ऐसा इस्तमाल आपको 5 करोड़ का मालिक बना देगा

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

As you found this post useful...

Follow us on social media!

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Author Profile

Ramgovind kabiriya
Ramgovind kabiriya
मैं रामगोविन्द कबीरिया मुझे लिखने का काफी शौक है, मैं कन्टेन्ट राइटिंग में पिछले तीन सालों से काम कर रहा हूॅं। मैंने इन्दौर के डीएवीवी यूनिवर्सटी से एम.ए. मासकम्युनिकेशन किया है। इसके अलावा मैंने कम्प्युटर के क्षेत्र से सम्बधित पीजीडीसीए भी किया है। मैं न्यूज़, फैशन, धर्म, लाईफस्टाइल, वायरल स्पाॅर्टस आदि सभी कैटेगिरी में लिखता हूॅं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *