बना रहे अगर वैष्णो देवी जाने का प्लान तो पहले जान लें यह नियम और जरूरी बातें..

If you are planning to go to Vaishno Devi then know this rule and important things.
411 Views

प्राकृति से सरोबोर वैष्णो देवी के दर्शन करना अपने आप में एक अद्भुत प्रतिक्रिया होती है। हर रोज हजारों की संख्या में श्रध्दालु यहां पर दर्शन के लिए उपस्थित होते हैं। जिनमें से कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो दर्शन तो करना चाहते हैं लेकिन प्लानिंग न होने के कारण उनकी यह यात्रा हमेशा असफल होती रहती है।

इसलिए जरूरी है कि जब भी आप वैष्णो देवी के दर्शन के लिए जाएं तो पहले उसके बारे में हर एक चीज जान लें ताकि आपको बाद में इससे सम्बधित कोई समस्या न हो। आज हम आपसे इसी यात्रा के बारे में चर्चा करने वाले हैं। जी हां अगर आप भी वैष्णो देवी के दर्शन करने के लिए प्लानिंग कर रहे हैं तो यह लेख आपकी इस यात्रा को सफल बनाने के लिए कामयाब होगा।

माता वैष्णो देवी हिन्दुओं का पवित्र स्थल

Mata Vaishno Devi holy place of Hindus
Mata Vaishno Devi holy place of Hindus

प्रकृति से सराबोर त्रिकूट पर्वत पर गुफा में विराजित माता वैष्णो देवी का स्थान हिन्दुओं के लिए बहुत ही पवित्र स्थान है। माता के दर्शन के लिए हर रोज हजारों की संख्या में श्रध्दालुगण उपस्थित रहते हैं। यहां पर माता पिंड के रूप में गुफा के अंदर विराजमान हैं।

गुफा की लम्बाई 30 मी. और ऊंचाई 1.5 मी. है। यह मंदिर कटरा से लगभग 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जिस पहाड़ी पर माता का भव्य मंदिर स्थापित है उसकी समुद्र तल से ऊंचाई 5200 फिट है।

ऐसे करें अपनी यात्रा की शुरूआत

Start your journey like this
Start your journey like this

माॅं वैष्णो देवी की यात्रा का पहला पड़ाव जम्मू होता है। जम्मू तक आप बस, टैक्सी, ट्रैन या फिर हवाई जहाज के माध्यम से पहंुच सकते हैं। जम्मू ब्राड गेज लाइन द्वारा जुड़ा है। गर्मियों में वैष्णो देवी जाने वाले यात्रियों की संख्या में अचानक वृध्दि हो जाती है,

इसलिए रेलवे द्वारा प्रतिवर्ष यात्रियों की सुविधा के लिए दिल्ली से जम्मू के लिए विशेष ट्रेनें चलाई जाती हैं। बतादें की जम्मू भारत के राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 1 ए पर स्थित है। इसलिए अगर आप बस या फिर टैक्सी के माध्यम से आना चाहते हैं तो आपको इसमें में कोई समस्या नहीं होगी।

कैसे पहुंचे माता के भवन में..

How to reach the mother's house
How to reach the mothers house

मां वैष्णो देवी यात्रा की शुरूआत कटरा से होती है। यह जम्मू जिले का एक गांव है। जानकारी के लिए आपको बतादें की जम्मू से कटरा की दूरी लगभग 50 किमी है। आप जम्मू से कटरा बस या टैक्सी के द्वारा भी जा सकते हैं।

यदि आप प्रायवेट टैक्सी से कटरा पहुंचना चाहते हैं तो आप 500 से 1000 रूपए खर्च कर टैक्सी से कटरा तक की यात्रा कर सकते हैं, जो कि लगभग 1 घंटे में आपको कटरा तक पहुंचा देगी।

यहाँ पर है ठहरने की उत्तम व्यवस्था

Here is the perfect accommodation
Here is the perfect accommodation

माता के भवन में पहुँचने वाले यात्रियों के लिए जम्मू, कटरा, भवन के आसपास आदि स्थानों पर माँ वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की कई धर्मशालाएँ व होटले हैं,

जिनमें विश्राम करके आप अपनी यात्रा की थकान को मिटा सकते हैं,

जिनकी पूर्व बुकिंग कराके आप परेशानियों से बच सकते हैं।

आप चाहें तो प्रायवेट होटलों में भी रुक सकते हैं।

नवरात्रि में लगता है यहाँ पर मेला
Here is the perfect accommodation
Here is the perfect accommodation

माँ वैष्णो देवी के दरबार में नवरात्रि के नौ दिनों में प्रतिदिन लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं।

कई बार तो श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या से ऐसी स्थिति निर्मित हो जाती है कि,

पर्ची काउंटर से यात्रा पर्ची देना बंद करनी पड़ती है। इस वर्ष भी नवरात्रि में हर रोज लगभग 50,000 से,

अधिक श्रद्धालु माँ वैष्णो के दर्शन के लिए कटरा पहुँच रहे हैं।

जान लें आसपास के दर्शनीय स्थल

कटरा व जम्मू के नज़दीक कई दर्शनीय स्थल ‍व हिल स्टेशन हैं,

जहाँ जाकर आप जम्मू की ठंडी हसीन वादियों का लुत्फ उठा सकते हैं।

जम्मू में अमर महल, बहू फोर्ट, मंसर लेक, रघुनाथ टेंपल आदि देखने लायक स्थान हैं।

जम्मू से लगभग 112 किमी की दूरी पर ‘पटनी टॉप’ एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन है।

सर्दियों में यहाँ आप स्नो फॉल का भी मजा ले सकते हैं। कटरा के नजदीक शिव खोरी,

झज्झर कोटली, सनासर, बाबा धनसार, मानतलाई, कुद, बटोट आदि कई दर्शनीय स्थल हैं।

All story image source from Google

हमारे सोशल परिवार का हिस्सा बनने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी News अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

नीचे दी गयी स्टोरी भी पढ़े:

अंग्रेजी के ये चार नाम से शुरू होने वाली लड़कियां इतनी आसानी से नहीं मिलती किसी को

आखिर क्यों बना होता है ट्रेन के आखिरी डिब्बे पर यह निशान जानें इस रहस्य के बारे में..

ज्यादा खाने की वजह से नहीं बल्कि इस विटामिन की कमी से मोटी हो रही महिलाएं

ज्यादा खाने की वजह से नहीं बल्कि इस विटामिन की कमी से मोटी हो रही महिलाएं

Author Profile

Ramgovind kabiriya
Ramgovind kabiriya
मैं रामगोविन्द कबीरिया मुझे लिखने का काफी शौक है, मैं कन्टेन्ट राइटिंग में पिछले तीन सालों से काम कर रहा हूॅं। मैंने इन्दौर के डीएवीवी यूनिवर्सटी से एम.ए. मासकम्युनिकेशन किया है। इसके अलावा मैंने कम्प्युटर के क्षेत्र से सम्बधित पीजीडीसीए भी किया है। मैं न्यूज़, फैशन, धर्म, लाईफस्टाइल, वायरल स्पाॅर्टस आदि सभी कैटेगिरी में लिखता हूॅं।

Leave a Comment