19 तरीको से मिलेगी सर्दियों में सर्दी खासी जुकाम से मुक्ति

303 Views

सर्दी जुकाम मौसम में परिवर्तन के साथ-साथ आपके शरीर पर अपनी पकड़ मजबूत करने लगता है। ज्यादातर यह समस्या सर्दियों में ही देखने को मिलती है। यह जुकाम, खांसी से बैक्टीरिया या वायरल इंफेक्शन, साइनस इनफेक्शन, एलर्जी और ठंड का कारण हो सकता है। लेकिन हमारे यहां लोग छोटी-छोटी बीमारियों के लिए डॉक्टर के पास जाना पसंद नहीं करते। ऐसे में आज हम आपको sardi jukam घरेलू किचन से निकालकर कुछ ऐसे नुस्खे बताएंगे। जिसकी मदद से आपके सर्दी जुकाम पलक झपकते ही गायब हो जाएंगे:

3 बड़े कारण जो आपकी छोटी सी सर्दी जुकाम को ठीक नहीं होने दे

Table of Contents

कैसे पहचाने sardi jukam सर्दी जुकाम के लक्षण

आमतौर पर सर्दी जुकाम के लक्षण पहचानना बेहद ही आसान है। हम आपको नीचे कुछ लक्षण बता रहे हैं। जो अक्सर सर्दी जुकाम होने पर देखे जा सकते हैं। उन्हें ध्यान से पढ़ें:

  • सिर दर्द
  • छींक आना
  • नाक बंद
  • बहती नाक
  • गले में खराश
  • खांसी का आना
  • आंखों से पानी आना
  • बुखार महसूस होना

Hing ke fayde अस्पताल जानें की बजाये छोटी-मोटी बिमारियों को करें हींग से ही ठीक

सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय

हमारे पुराने बुजुर्ग बताते हैं। कि अगर आपको जीवन में स्वस्थ रहना है। तो दवाई का उपयोग तब ही करे, जब इसकी ज्यादा जरूरत पड़े। घरेलु उपचार सर्दी जुकाम का छुटकारा पाने के लिए सबसे आसान तरीका है। इन घरेलू उपाय में नशे सर्दी जल्दी ठीक होगी। बल्कि उस से होने वाले नुकसान से भी आप बच पाएंगे।

  1. हल्दी वाला दूध के फायदे
  2. अदरक से सर्दी का उपचार
  3. तुलसी के पत्ते से सर्दी का इलाज
  4. शहद दूध से जुकाम का इलाज
  5. ग्रीन टी यानी हरी चाय
  6. गाजर के जूस से भगाये सर्दी
  7. सर्दी में गर्म पदार्थों में क्या पिये
  8. काली मिर्च से सर्दियों में आराम
  9. अनार के रस का सर्दियों में उपयोग
  10. जुकाम में राहत दे गेहूं की भूसी
  11. लहसुन से कैसे भगाएं सर्दी जुकाम
  12. नमक और अदरक से इलाज
  13. अलसी से सर्दी जुकाम में मुक्ति
  14. अदरक तुलसी और शहद से फायदा
  15. आंवले से होगा ठंड में फायदा
  16. मसाले वाली चाय से उड़ाए ठंड
  17. ब्रांडी और शहद का जुखाम पर असर
  18. गरम पानी और नमक से करें इलाज
  19. एडवांस टिप्स फॉर कोल्ड

8 बड़ी बीमारियों के लिए किसी अमृत से कम नहीं हैं यह जीरे का पानी

हल्दी वाला दूध के फायदे

घर में हल्दी वाला दूध बड़ी आसानी से उपलब्ध हो जाता है। हल्दी अपने में एंटीबायोटिक और एंटीऑक्‍टीडेंट गुणों के कारण जानी जाती है। इसके अलावा हल्दी के अंदर करक्‍यूमीन नाम का तत्व भी पाया जाता है। जो स्वास्थ्य के लिए बेहतरीन पेय बनाता है। अगर आप हल्दी वाला दूध पीते हैं। तो आपको कोल्ड और कफ में तुरंत आराम मिलेगा। यदि आप चाहे तो हल्दी का पानी भी ले सकते हैं।
बनाने की विधि: हल्दी दूध बनाने के लिए आपको एक गिलास दूध में दो चटकी हल्दी पाउडर डालना होगा। आप चाहे तो सर्दियों में आने वाली कच्ची हल्दी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह नुस्खा केवल बच्चों के लिए जितना लाभदायक है। उतना बड़ों के लिए भी है।

अदरक से सर्दी का उपचार

आयुर्वेद की मानें तो अदरक सर्दी जुकाम की सबसे बढ़िया दवाई बताई जाती है। यदि आप ठंड महसूस करते हैं। या आपकी बॉडी को गर्म करने के कार्य करता है। क्योंकि अदरक में मौजूदा एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण यह आपकी बंद नाक को खोलने में मदद करता है। साथ ही साथ सर्दी के साथ यदि फ्लू भी हो तो यह आपको तरोताजा कर सकता है।
बनाने की विधि: आप ताजी अदरक को बिल्कुल बारीक कर ले। फिर उसे एक गर्म पानी या दूध में मिलाएं। और थोड़ी सी चाय पत्ती और तुलसी के पत्तों को भी मिला सकते हैं। फिर कुछ देर तक इसे उबलने दें, और बाद में पिए। sardi jukam सर्दी जुकाम से राहत पाने का यह सबसे तेज तरीका बताया जाता है।

तुलसी के पत्ते से सर्दी का इलाज

अदरक के साथ-साथ तुलसी के पत्तों को भी सदी जुकाम sardi jukam के लिए लाभदायक बताया गया है। इसके सेवन से आपका जुकाम तुरंत गायब हो सकता है।
बनाने की विधि: एक गरम पानी में तुलसी के पांच पत्तियों को ले। उसमे अदरक का एक छोटा सा टुकड़ा भी डाल दे। बाद में इसे उबलने दे। फिर काढ़ा बना ले जब पानी बिल्कुल आधा रह जाये। तब इसे धीरे-धीरे पीले यह नुस्खा बच्चों से लगाकर बड़ो तक को भी फायदा देता है।

शहद दूध से जुकाम का इलाज

हनी यानि शहद में एंटीवायरल गुण होते हैं। जिस कारण से यह ठंड और खासी के इलाज में प्रभावी है। इसके अंदर मौजूद एंटीऑक्सिडेंट जो ठंड के कारण होने वाले वायरल को दूर करने में मदद करता है। आपको केवल ऑर्गेनिक शहद और दूध का गिलास चाहिए।
बनाने की विधि: sardi jukam एक गिलास दूध में आपको एड चम्मच शहद मिलाकर रात को खाने के बाद इसे पीना होगा। दिन में दो बार कच्चे शहद को भी खा सकते हैं।

ग्रीन टी यानी हरी चाय

बिगड़टी ठण्ड में कुछ भी गरम पीना आपको राहत मिलती है। ऐसे में आप ग्रीन टी का चुनाव कर सकते हैं। क्योंकि इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट होता है। सामान ठंड के दौरान यह एक बढ़िया पे माना जाता है। तो जुकाम के दौरान आपके नाक और गले के लक्षणों को तुरंत आराम देता है। आप नॉर्मल तरीके से चाय बना सकते हैं। जिसे दिन में दो बार इस्तमाल करें ज्यादा टेस्ट लेने की स्थिति में इसमें शहर और नीबू का रस भी मिला सकते हैं।

गाजर के जूस से भगाये सर्दी

शायद सुनने में अजीब सा लगे लेकिन खांसी जुखाम में गाजर का भी अहम रोल होता है। गाजर का जूस जुकाम-खांसी के लिए फायदेमंद है। लेकिन आप इसे बर्फ के साथ बिल्कुल भी सेवन ना करें।

सर्दी में गर्म पदार्थों में क्या पिये

आप सर्दी जुकाम में चाय, सूप और गर्म पानी का सेवन कर सकते हैं। लेकिन आपको मसालेदार खाना ठंडे पानी जैसी चीजों से परहेज़ करना चाहिए।

काली मिर्च से सर्दियों में आराम

सर्दियों में आपको खांसी के साथ बलगम भी आता है। तो आधी चमच काली मिर्च में देसी घी के साथ मिलाकर खाएं। इससे आपको बलगम वाली खांसी में भी आराम मिलेगा।

अनार के रस का सर्दियों में उपयोग

ठंड वाली खांसी को दूर करने के लिए आप अनार के जूस के अंदर।

थोड़ा अदरक और पिपली का पाउडर मिला दे। जिससे आपको खासी में काफी मदद मिलेगी।

जुकाम में राहत दे गेहूं की भूसी

अगर sardi jukam जुकाम और खांसी ज्यादा है।

तो ऐसी परिस्थिति में गेहूं की भूसी का भी उपयोग किया जा सकता है।

10 ग्राम गेहूं की भूसी 5 लोग और कुछ नमक लेकर पानी में मिलाकर।

इसे उबाल लें, फिर इसका काढ़ा बनाएं।

इस मिश्रण के काढ़े को एक कप पीने से आपको आराम मिलेगा।

सामान्यतः जुकाम हल्का-फुल्का ही होता है।

जिसके लक्षण 1 हफ्ते या इससे कम समय के लिए ही होते हैं।

गेहूं की भूसी का प्रयोग करने से आपको तकलीफ से निजात मिलेगी।

लहसुन से कैसे भगाएं सर्दी जुकाम

सब्जी बनाने के अलावा लहसुन आयुर्वेद में भी बड़ी काम आती है।

लहसुन को घी में भून लें और गरम-गरम ही खा लें।

ऐसा करने से स्वाद भले ही खराब हो सकता है।

लेकिन यह आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद और कारगर साबित होगी।

नमक और अदरक से इलाज

sardi jukam आप अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े काटे हैं। और फिर इसमें नमक मिला दें बाद में इसे आप खा ले।

इसके कारण यह आपका गला खुल जायेगा और नमक कीटाणु भी मार देगा।

अलसी से सर्दी जुकाम में मुक्ति

आपने अलसी के बीज तो देखे होंगे। अलसी के बीजों को मोटा होने तक उबालें। फिर उसमें नींबू का रस और शहद भी मिला दे। अब आप इसका सेवन कर सकते हैं। जो जुकाम और खांसी में आपको राहत पहुंचाता है।

अदरक तुलसी और शहद से फायदा

तुलसी को अदरक के रस में मिला है। और इसका सेवन करें आप चाहे। तो इसमें शहद मिलाकर सेवन कर सकते हैं। यह सर्दी जुकाम में फायदा पहुंचाता है।

आंवले से होगा ठंड में फायदा

जैसा कि आपको पता होगा की आंवले के अंदर प्रचुर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है। जो खून के प्रवाह को बेहतर करता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट भी मौजूद होते हैं। जो सर्दियों में आपके रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा पहुंचाते हैं। आपने कई सारे चवनप्राश के प्रचार में आंवले को देखा होगा।

मसाले वाली चाय से उड़ाए ठंड

ऐसी चाय बनाने के लिए आपको चाय में तुलसी, काली मिर्च भी मिलाना होगा। और बाद में उसका सेवन करे। इन तीनों तत्वों से खांसी और जुकाम पलक झपकते ही गायब हो जाएंगे।

ब्रांडी और शहद का जुखाम पर असर

शरीर को गर्म रखने के लिए ब्रांडी तो जानी जाती है। इसके अलावा इसमें शहद मिक्स करके भी जुखाम पर काफी असर पड़ता है।

गरम पानी और नमक से करें इलाज

सर्दी खांसी अगर नहीं जा रहे हैं। तो आप गर्म पानी में चुटकी भर नमक मिला लें। और फिर गरारे करें ऐसा करने से आपको सर्दी जुखाम में राहत मिलने के साथ-साथ गले में भी आराम पहुंचेगा। और खांसी भी चली जाएगी या एक बहुत ही पुराना नुस्खा है।

एडवांस टिप्स फॉर कोल्ड

रात में ठंड लगने का इलाज

यदि आपको रात को सोते समय अत्यधिक ठंड लगती है। तो आप अपनी दिनचर्या में इस टिप्स को शामिल कर सकते हैं। आपको रात को सोने से पहले सरसों के तेल की मालिश जरूर करें। अगर जुकाम बना रहता है। तो आप पैरों के तले और अपनी नाभि में भी पर सरसों का तेल लगाएं। जिसे आपका शरीर भी गजब रहेगा। और जुकाम की समस्या भी समाप्त हो जाएगी। यह ठंड और जुकाम भगाने के देसी उपाय है।

All story image source from Google

लगातार ऐसी जानकारी पाने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी Health अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

जानकारी को सबसे पहले अपने दोस्तों तक पहुंचने के लिए नीचे दिए सोशल मीडिया की मदद ले और शेयर करे ।

इस तरह की खबरों को सबसे पहले पढ़ने के लिए ‘सब्सक्राइब’ करे।