इंस्टाग्राम इस्तेमाल करने वाले युवा हो रहे इस बीमारी से ग्रषित

Health
1,101 Views

 

आज के समय में हर कोई टेक्नोलाॅजी में जीना चाहता है। जिसको देखो वही आधुनिक चीजों का इस्तेमाल करना चाहता है। लेकिन जहां एक ओर इसके फायदे नजर आते है वहीं दूसरी ओर इसके कई नुकसान भी हैं। जिस कदर सोशल मीडिया लोगो के सर चढ़ कर बोल रहा है। वहीं युवाओं से लेकर बच्चे तक इसके दिवाने होते जा रहा हैं।

आज के समय में हर कोई फेसबुक, इंस्टाग्राम और स्नैपचैट जैसे एप में व्यस्त ही दिखाई देता है। इसके साथ शारीरिक नुकसान तो होता ही है साथ ही मानसिक स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ता है। लेकिन आखिर ऐसा क्या है कि इंस्टाग्राम को मानसिकतौर पर ज्यादा असर करने वाला माना गया है।

इंस्टाग्राम पर ऐसे किया गया सर्वे

Such survey done on Instagram
Such survey done on Instagram

आज की युवा पीढ़ी के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ने वाला बुरे प्रभाव को देखते हुए ब्रिटेन के सर्वेक्षण में,

इंस्टाग्राम को सबसे ज्यादा खराब सोशल मीडिया प्लेटफाॅर्म माना गया है। वहीं दूसरी ओर यूट्यूब,

स्नैपचैट और फेसबुक को दूसरा, तीसरा और चैथा स्थान दिया गया। ट्विीटर को सबसे कम अंक मिले।

सर्वेक्षण में 14-24 के बीच के आयु वर्ग के 1,479 लोगों से यूट्यूब, इंस्टाग्राम, स्नैपचेट, फेसबुक,

और ट्वीटर को उनके स्वास्थ्य पर पड़े प्रभाव से संबंधित कई सवाल पूछे गए, जिसके आधार पर उनकी रेटिंग दी गई।

सोशल मीडिया में इंस्टाग्राम क्यों खराब है

सर्वे में इन एप्स की रेटिंग सकारात्मक एवं नकारात्मक प्रभावों पर की गई है।

इंस्टाग्राम के बारे में जो सबसे बड़ी समस्या बताई गई है, वह महिलाओं के बाॅडी लुक को लेकर है। दरअसल यह एप्प महिलाओं को इनसिक्योर बना देता है, जिसकी वजह है फोटोशाॅप्ड तस्वीरें।

[tweetshare tweet=”युवा वर्ग सोशल मीडिया पर फोटो डालने के चक्कर में अकेले ही तस्वीरें क्लिक करते हैं,” username=”AmTheYoYo”]और फिर उन्हे पोस्ट करने से पहले अच्छी दिखाने के लिए ना जाने कितना समय फिल्टर करने में ही लगा देते हैं,

जिसके चलते वह अपने बढ़ते वनज पर भी ध्यान नहीं देते।

इंस्टाग्राम मानसिक स्वास्थ्य के लिए खतरा है

आज के समय में सोशल मीडिया हर युवा से लेकर बच्चे व बढ़ों के सर चढ़ कर बोल रहा है।

लेकिन अन्य आयु वर्ग के मुकाबले लगभग 90 फीसदी युवा करते हैं, इसलिए युवाओं पर,

इसका असर ज्यादा पड़ सकता है। साथ ही इस अध्ययन में दावा किया गया है,

कि सोशल मीडिया पर ज्यादा समय बिताने के कारण लड़कियां इसका ज्यादा शिकार हो रही हैं।

इन बीमारियों के लिए जिम्मेदार

घंटो तक सोशल मीडिया में एक्टिव रहना, कई बीमारी को एक साथ न्यौता देता है।

वो अनिद्रा, एंग्जाइटी डिस आर्डर, डिप्रेशन और फियर ऑफ मिसिंग आउट जैसी बीमारी से ग्रषित हो जाते हैं।

इतना ही नहीं, इनके कारण युवाओं की बाॅडी इमेज पर भी बुरा असर पड़ता है।

All story image source from Google

हमारे सोशल परिवार का हिस्सा बनने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी Health News अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

जानकारी को सबसे पहले अपने दोस्तों तक पहुंचने के लिए नीचे दिए सोशल मीडिया की मदद ले और शेयर करे |

Author Profile

Ramgovind kabiriya
Ramgovind kabiriya
मैं रामगोविन्द कबीरिया मुझे लिखने का काफी शौक है, मैं कन्टेन्ट राइटिंग में पिछले तीन सालों से काम कर रहा हूॅं। मैंने इन्दौर के डीएवीवी यूनिवर्सटी से एम.ए. मासकम्युनिकेशन किया है। इसके अलावा मैंने कम्प्युटर के क्षेत्र से सम्बधित पीजीडीसीए भी किया है। मैं न्यूज़, फैशन, धर्म, लाईफस्टाइल, वायरल स्पाॅर्टस आदि सभी कैटेगिरी में लिखता हूॅं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *