Want to get rid of income tax, get rid of these 6 ways

इनकम टैक्स से पाना चाहते हैं छुटकारा तो अभी अपना लें ये 6 तरीके

Life Easy
145 Views

 

पैसा बचाने की अगर बात करें तो हर इंसान सेविंग करना चाहता है। लेकिन जो लोग इनकम टैक्स देते हैं। उनके साथ बड़ी समस्या है क्योंकि जो वह बचाने की सोचते हैं उन्हे वह इनकम टैक्स के रूप में चुकाना पड़ता है।

अगर आप भी इनकम टैक्स भरते हैं और यह चाहते हैं कि कुछ ऐसा हो जिससे इनकम टैक्स देना न पड़े तो आज हम आपसे कुछ इसी सिलसिले पर चर्चा करने वाले हैं। यहां पर हम जानेंगे कि आखिर वह कौन से रास्ते हैं जो इनकम टैक्स को बचा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से…

इनकम टैक्स एक्ट के अंतर्गत

Under Income Tax Act
Under Income Tax Act

इनकम टैक्स देना भी एक एक्ट के अंतर्गत आता है। जो 80सी के तहत एक वित्त वर्ष में विभिन्न योजनाओं में,

1.5 लाख रूपए तक का निवेश करके आयकर बचाने का मौका लोगों के पास होता है।

आमतौर पर लोग केवल एलआईसी, पीपीएफ व अन्य के माध्यम से ही इनकम टैक्स बचाने के बारे में जानते हैं,

लेकिन इसके अलावा और भी कई विकल्प हैं जो आपके इनकम टैक्स को बचा सकते हैं।

तो चलिए जानते हैं एक-एक करके इनके बारे में

कर्मचारी भविष्य निधि से बचाएं इनकम टैक्स

Avoid Employee Provident Fund Income Tax
Avoid Employee Provident Fund Income Tax

आमतौर पर जो व्यक्ति सरकारी या फिर अर्धसरकारी जगहों पर काम करते है।

तो उन्हे मिलने वाली तन्ख्वाह में से कुछ अंश 12/ काट लिया जाता है उन्हे भविष्य में देने के लिए।

उसे ही कर्मचारी भविष्य निधि ईपीएफ कहा जाता है। ईपीएफ में 1.5 लाख तक की राशि पर,

आयकर छूट का दावा किया जा सकता है। वित्त वर्ष 2017-18 के लिए इपीएफ में जमा राशि पर 8/ का ब्याज दिया जाएगा।

सार्वजनिक भविष्य निधि में निवेश से बचाएं इनकम टैक्स

इनकटम टैक्स बचाने का एक तरीका यह भी है कि आप सार्वजनिक भविष्य निधि में निवेश करके इनकम टैक्स बचा सकते हैं।

दरअसल पीपीएफ खाते में जमा की गई जमाराशि धारा 80सी के तहत कर कटौती के लिए पात्र हैं।

पीपीएफ में एकाउंट खोलने के लिए मिनिमम 500 रूपये से खाता खोला जा सकता है,

जबकि एक पूरे वित्तीय वर्ष में अधिकतम 1.5 लाख रूपये जमा करके छूट का दावा किया जा सकता हैै।

फिक्स्ड डिपाॅजिट से बचाएं इनकम टैक्स

इसके माध्यम से भी आप इनकम टैक्स बचा सकते हैं। दरअसल सावधि जमा में जमा की गई राशि,

अगर 5 वर्ष के लिए आयकर स्कीम में बैंक में रखी जाती है तो वह राशि धारा 80सी के तहत कर में छूट के लिए पात्र है।

इसमें 1.5 लाख रूपये तक का कर लाभ कमाया जा सकता है। इसमें जमा राशि पर 7-9/ का ब्याज मिलता है।

हालाकि इसमें हर बैंक अलग-अलग ब्याज देता है। इसमें एक दिक्कत यह है,

कि यदि आपने डिपाजिट को परिपक्वता अवधि के बाद निकाला तो,

ब्याज के रूप में मिली राशि को कर योग्य आय में जोड़ दिया जाता है।

दो बच्चों की ट्यूशन फीस से बचाएं इनकम टैक्स

अगर आपके दो बच्चें हैं और दोनो ही ट्यूशन जाते हैं तो आप इनकी फीस से भी इनकम टैक्स बचा सकते हैं।

एक या दो बच्चों की शिक्षा के लिए शिक्षण फीस के रूप में भुगतान राशि आयकर से मुक्त होती है।

और आप धारा 80सी के तहत इसका लाभ ले सकते हैं। यदि बच्चे जुड़वा हैं,

तो इसका लाभ तीसरे बच्चे को भी मिल सकता है। ध्यान रहे कि,

केवल भारत में पढ़ने वाले बच्चे पर ही यह चीज लागू होगी।

होम लोेन के माध्यम से बचाएं इनकम टैक्स

अगर आप होम लोन लेकर रखे हैं तो इसके माध्यम से भी आप इनकम टैक्स से छुटकारा पा सकते हैं।

आप होम लोन की मूलधन चुकौती धारा 80सी के तहत छूट के लिए पात्र हैं यदि आपने एक नया घर खरीदा है,

और उस के लिए आवास ऋण लिया है तो आप धारा 80सी से इसका लाभ ले सकते हैं।

आवास ऋण की सामान किश्त में दो घटक होते हैं- मूलधन और ब्याज आपको,

केवल मूलधन वाले हिस्से की राशि की ही धारा 80सी के तहत छूट मिलेगी।

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना से बचाएं इनकम टैक्स

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS) भारत सरकार का उत्पाद है। यह सबसे सुरक्षित निवेश विकल्पों में से एक है।

60 वर्ष से ज्यादा आयु वाले व्यक्ति इस खाते को खोल सकते हैं।

इस योजना के तहत 5 वर्ष के लिए निवेश निकाला नहीं जा सकता है।

जमाकर्ता यह जमा और 3 साल के लिए बढ़ा सकता है। इस योजना में जमाकर्ताओं को,

8%–9% ब्याज मिलता है। निवेश से प्राप्त ब्याज कर से मुक्त नहीं है।

हमारे सोशल परिवार का हिस्सा बनने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी Life Easy अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

जानकारी को सबसे पहले अपने दोस्तों तक पहुंचने के लिए नीचे दिए सोशल मीडिया की मदद ले और शेयर करे |

इस तरह की खबरों को सबसे पहले पढ़ने के लिए ‘सब्सक्राइब’ करे।

Author Profile

Ramgovind kabiriya
Ramgovind kabiriya
मैं रामगोविन्द कबीरिया मुझे लिखने का काफी शौक है, मैं कन्टेन्ट राइटिंग में पिछले तीन सालों से काम कर रहा हूॅं। मैंने इन्दौर के डीएवीवी यूनिवर्सटी से एम.ए. मासकम्युनिकेशन किया है। इसके अलावा मैंने कम्प्युटर के क्षेत्र से सम्बधित पीजीडीसीए भी किया है। मैं न्यूज़, फैशन, धर्म, लाईफस्टाइल, वायरल स्पाॅर्टस आदि सभी कैटेगिरी में लिखता हूॅं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *