4 आसान तरीको से घर पर बनाये फेस मास्क होगी परिवार व खुद की सुरक्षा

118 Views

Mask kaise banaye आपने डॉक्टर को हॉस्पिटल में आपने मरीज से मिलने से पहले मास्क लगाते हुए देखा होगा। क्या आपने कभी सोचा है। वह ऐसा क्यों करते हैं। आपको बता दें, डॉकटर मास्क इसलिए पहनते है। ताकि संक्रमित मरीज के संपर्क में आने से मरीज का संक्रमण उन तक ना पहुंचे सके।

यह भी पढ़े: इसलिए स्टेशन पर पहुंचने से पहले ही रुक जाती हैं ट्रेन आउटर पर

Ghar par mask kaise banaye

फ़िलहाल में दुनिया भर में कोरोना वायरस से बचने के लिए लोग मास्क पहने हुए दिख जाएंगे। इसी के चलते मार्केट में जल्द ही इसकी शार्टज हो सकती है। इसलिए आज हम आपको घर पर ही घरेलू सामान का उपयोग करते हुए, फेस मास्क बनाना बताएंगेv जो वायरस और भविष्य में किसी भी पोल्यूशन से आपकी रक्षा करेगा।

यह भी पढ़े: इस तकनीक से झट से पहचान सकते हैं दूध में होने वाली मिलावट के बारे में

क्या है फेस मार्क्स

फेस के ऊपर लगाए जाने वाले मास्क ऐसे होते हैं। जो आपको संक्रमण से बचाते हैं और किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आते ही। उसका संक्रमण आप तक नहीं पहुंचता हैं। क्योंकि बैक्टीरिया मुंह, नाक, जैसी जगह पर जल्दी से प्रवेश कर अपना असर दिखते हैं।

यह भी पढ़े: किसान को लगेगी चोट तो इस योजना से 60 हजार से लेकर होगा 2 लाख तक का फायदा

मास्क के प्रकार

सामन्यतयाः मुँह पर बांधने वाले मास्क दो प्रकार के होते हैं:

  1. इन साइडर टू आउटसाइड मास्क
  2. आउट साइड टू इनसाइड मास्क

पहले वाले मास्क में जो व्यक्ति के बक्टेरिया को अंदर से बाहर आने से रोकता हैं। वे मास्क इनसाइड टू आउटसाइड मास्क कहलाता हैं। ज्यादातर यह डिस्पोजल या सर्जिकल मास्क होते हैं। जोकि अक्सर अस्पतालो में डॉक्टर द्वारा उपयोग किए जाते हैं। इन्हे तीन से 8 घंटे उपयोग करने के बाद फेक दिया जाता है। लेकिन इस तरह के मास्क से आप संक्रमण से तो बस जाएंगे। लेकिन कोरोना वायरस से नहीं।

आउटसाइडर टू इनसाइडर मास्क

दूसरे तरह के वे मास्क वे होते हैं। जो बाहर वाले बैक्टीरिया को अंदर आने से रोकते हैं। यह मास्क एन 95 रेस्पिरेटर मास्क कहलाते हैं। लेकिन आपको बता दें, यह भी तीन तरीके के होते हैं।

  1. एफएफपी 1
  2. FFP 2
  3. एफएफपी 3

जिसमें सबसे अच्छा है, एफएफपी ३ मास्क होता है। जो कि 99 प्रतिशत फिल्ट्रेशन करता है। जबकि 1 प्रतिशत लीकेज होता है।
WHO रिपोर्ट की माने तो कोरोना वायरस से बचने के लिए, इसी तरह के फेस मास्क को इस्तेमाल करना बेहतर हो सकता है।

यह भी पढ़े: इनकम टैक्स से पाना चाहते हैं छुटकारा तो अभी अपना लें ये 6 तरीके

सर्जिकल मास्क बनाने की विधि

घर पर सर्जिकल मास्क बनाने के लिए आपको निम्न प्रकार की सामग्री की आवश्यकता पड़ेगी‌। जैसे:

  • किचेन पेपर
  • टिशू पेपर
  • रबर बैंड
  • पंचिंग मशीन
  • पेपर और मार्किंग टेप
  • बाइंडर क्लिप
  • कैंची
  • प्लास्टिक वायर
  • चश्मा
  • लास्ट फाइल फोल्डर

फेस मास्क के बनाने की प्रक्रिया

  1. सबसे पहले हाथों को सेनेटाइजर कि मदद से साफ कर ले।
  2. अब टिशू पेपर के बराबर की किचेन पेपर को काटले।
  3. आपको इसके दो हिस्से लेने हैं, इसे एक के ऊपर एक रखना है।
  4. बाद में टिशू पेपर इसके ऊपर रखिए, फिर बीच से दो भागों में कैंची की मदद से काट ले।
  5. कटे हुए दोनों हिस्सों को पेपर मास्किंग टेप की मदद से झुका लीजिये।
  6. दोनों साइड पर आपको टेप लगाना है, फिर उसे पंचिंग मशीन की मदद से पंच कर दो दो छेद कर लीजिए।
  7. किचेन पेपर वाली साइट पर प्लास्टिक कोटेड वायर को टेप की मदद से चिपका ले।
  8. आपने जो पंचिंग मशीन से से किए छेद में रबड़ बैंड बांध लीजिए।
  9. अपने चश्मे की दोनों डंडीयो में बाइंडर क्लिप्स की मदद से इसे आधा कटे हुए प्लास्टिक फाइल फोल्डर को क्लिप कर दीजिए।
  10. आपका फेस मास बनकर तैयार है।

यह भी पढ़े: बिना टिकट के चढ़ गए ट्रेन में तो अब टीटीई से घबराने की जरूरत नहीं

सावधानियां

mask kaise banaye किचेन पेपर एवं टिशू पेपर की संख्या अआप अपने हिसाब से बड़ा सकते हैं। क्योंकि जितना मोटा फेसमास्क आप उपयोग करेंगे उतना ही अधिक आप संक्रमण से से बच पाएंगे। यह मास्क संक्रमण को आप तक जल्दी नहीं पहुंचने देगा। इसके अलावा मास्क को उपयोग में लेने के बाद इसे कान की तरफ से निकालते हुए सीधे डस्टबिन में फेंक दें। इसे आप सामने से अपने हाथों से कभी नहीं छुए। क्योकि इस पर मौजूदा बैक्टेरिया आपके हाथ में लग जायेंगे।

घर पर बनाएं कपड़े से मास्क

घर पर कपड़े से फेस मास्क बनाने का तरीका कुछ इस प्रकार है:

mask kaise banaye कपडे से फेस मास्क बनाने के लिए आपको मोटा फैब्रिक का कपड़ा लेना होगा। उसे 20 सेंटीमीटर छोड़ा और 17 सेंटीमीटर लंबा काट ले। इसके बाद 20 सेंटीमीटर वाले दोनों कोनो को एक-एक इंच मोड़कर सिलाई कर दीजिए। आप इसमें में पांच सेंटीमीटर की दूरी से इस एक-एक इंच मोड़ते हुए। ऐसे ही 3-3 इंच की दूरी पर दो बार मोड़िये अब मोड़ा हुआ हिस्सा खुले नहीं। इसके लिए इस पर प्रेस कर दीजिए। बाद में आप कपड़े के अन्य टुकडे लेकर दोनों भागों को भी सिल सकते हैं। या इसको सिलाई कर सकते हैं। अंत में आप 15 सेंटीमीटर की दो इलास्टिक काटिये। इसे मास्क के चारों ओर कुछ ऐसे लगाइये। कि वह एक पहने वाले के लिए मास्क बन जाएं। इलास्टिक को कान में फसते हुए आप मास्क पहन सकते है

टिशू पेपर और किचेन नैपकिन से कैसे बनाएं फेस मास्क

सर्जिकल और घरेलू फेस मास्क के बाद, हम आपको किचन नैपकिन और टिशू पेपर की मदद से मास्क बनाना सिखाएंगे। इसके लिए आप 20×17 सेंटीमीटर का एक किचेन पेपर ले। उसके ऊपर ठीक वैसा ही साइज का टिशू पेपर चिपका दे। अब आप इसके 20 सेंटीमीटर वाले दोनो कोने में इलेक्ट्रिक वायर काटकर लगा दीजिए। इसके कोने को एक-एक इंच मोड़कर स्टेपल कर दीजिए। इसके बाद 3-3 इंच की दुरी में एक एक इंच मोड़कर। इसको कोने स्टेप्लर कर दे। ध्यान रहे, यह बीच में चिपके नहीं केवल किनारे से ही चिपका हो। इसके बाद इसके चारों कोनो में फेस मास्क पहने के लिए रबड़ बैंड लगा दे। जिससे अपने कानों में फसते हुए मास्क को आराम से पहन सके।

वायरस से बचने के लिए मास्क का उपयोग

आप खुद को वायरस और पोल्यूशन से बचाने के लिए मास्को को ऊपर से इस तरह से पहने। जिससे आपकी नाक से लेकर मुंह तक हिस्सा कवर हो सके। इसके बाद आप अपनी आंखों पर भी चश्मा लगा सकते है। ताकि बैक्टीरिया आंखों के माध्यम से भी आपके अंदर प्रवेश ना करें। मास्क का उपयोग आप कहीं भी बाहर जाते समय, भीड़ भाड़ वाले इलाके में प्रवेश करते समय पहन सकते हैं। केवल मास्क पहनने से ही सुरक्षा नहीं होगी। बल्कि आपको हाइजीन भी बरतना होगा।

यह भी पढ़े: ज्यादा फायदे चाहिए तो सरकारी नौकरी की शुरुआत में करें रिटायरमेंट की प्लानिंग

कपड़े की थैली से मास्क कैसे बनाये

घर पर आपको कपड़े की थैली उपलब्ध हो ही जाती है। जैसे कि बाजार में आजकल साड़ियां या राशन खरीदने पर दुकानदार आपको कपड़े की पॉलिथीन दे ही देता है। ऐसे में आप इस कपड़े की पॉलीथिन को हैंडल और नीचे के हिस्से को कैची से आयताकार काटले। अब ऊपर और नीचे की सतह को एक दूसरे के ऊपर रखें। फिर ऊपर से एक सेंटीमीटर दुरी पर उसे फोल्ड करें। ऐसे हर एक सेंटीमीटर पर फोल्ड करके। उसे सुई या सिलाई मशीन के माध्यम से दोनों किनारों से सील ले। अब बाकि बचे थैली के हैंडल वाले कपड़े को भी किनारे में लगाकर के सील सकते हैं। ताकि यह फेस को कवर करने के लिए तैयार हो सके। अब सिलाई मशीन के माध्यम से घर में मौजूद इलास्टिक को दोनों तरफ लगाएं। ताकि आपके कान पर यह ठीक से आ सके। यह लीजिए आपका फेस मास्क तैयार है।

मास्क कब लगाना सही

mask kaise banaye फेस मास्क बनाने के हम यह जानना भी जरुरी है कि मास्क पहना कब जाता है। माफ़ कीजियेगा लेकिन लोगो को मास्क पहनने का समय भी मालूम नहीं है। छोटी जगहों और ग्रामीण इलाको में आज भी मास्क पहने हुए व्यक्ति को रोगी की नजर से देखा जाता है। जबकि ऐसा नहीं है, मास्क पहनना वाले को हमे धन्यवाद देना चाहिए। कि वो खुद को और आपको रोगो या किसी अन्य बीमारी से बचा रहा है।
आप मास्क को ऐसी जगहों पर लगा सकते है। जहाँ का माहौल आपको सूट नहीं कर रहा हो या हाइजीनिक हो। जैसे:

ऐसी जगहों पर लगा सकते है मास्क
  • घर में साफ सफाई के दौरान
  • गर्मी में अँधियो के चलते समय
  • भीड़ भाड़ में सफर करते वक्त
  • खांसी या झुखाम होने पर
  • हॉस्पिटल में जाते वक्त

यह भी पढ़े: आयुष्मान भारत योजना | रजिस्ट्रेशन | नया कार्ड बनाये | अन्य लिंक्स

Recommended Post

All story image source from Google

लगातार ऐसी जानकारी पाने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी LifeEasy अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

जानकारी को सबसे पहले अपने दोस्तों तक पहुंचने के लिए नीचे दिए सोशल मीडिया की मदद ले और शेयर करे ।

इस तरह की खबरों को सबसे पहले पढ़ने के लिए ‘सब्सक्राइब’ करे।