The king used to use this thing to increase his power.

राजा-महाराजा अपनी शक्ति बढ़ाने के लिए करते थे इस चीज का इस्तेमाल

lifestyle
1,249 Views

प्राचीन काल में वैध ज्ञाताओं का ज्यादा चलन था इसलिए राजा महाराजाओं के समय में जब भी कोई बीमार पड़ता था तब वैधों और हकीमों को बुलाया जाता था जो इनकी बिमारी को ठीक करते थे, इसके अलावा अगर इन्हें अपनी सेक्सुअल जिन्दगी में भरपूर आनंद उठाना चाहिए होता था तो ये वेधो के द्वारा ही बनाई गयी दवा का इस्तेमाल करते थे जिसके कारण ये अपनी जिन्दगी में एक से अधिक पत्नियां रखकर भी सुखी जीवन जीते थे, हांलाकि वैध जो दवाई देता था वह जड़ी बूटी कि बनी होती थी और काफी महंगी होती थी लेकिन आज के समय में यह जड़ी बूटी बड़ी आसानी से प्राप्त कि जा सकती है तो चलिए जानते है इन जड़ी बूटियों के बारे में जिनका लाभ आप भी उठा सकते है.

शिलाजीत का इस्तेमाल

Use of Shilajit
Use of Shilajit

प्राचीन काल कि जड़ी बूटियों में सबसे प्रहला नाम शिलाजीत का आता है

राजा महाराजा इसी जड़ीबूटियों का इस्तेमाल करते थे ये जड़ी बुटी आज भी किसी भी वैध

के पास या मेडिकल पर भी उपलब्ध रहती है इस बूटी को इस्तेमाल करने से कमजोरी एनर्जी कि कमी,

बुढ़ापा, इरेक्टाइल डिस्फंक्शन आदि दूर हो जाते है, शिलाजीत का सेवन करने के लिए गेंहू के दाने के

बराबर या इसकी चुटकी भर भस्म को एक चम्मच गाय के घी या फिर शहद के साथ ले सकते है.

सफ़ेद मसुली का इस्तेमाल

Safed musli
Safed musli

सफ़ेद मसुली का सेवन करने से स्पर्म की कमी, कमजोरी, इम्पोटेंसी, इरेक्टाल,

आदि दूर हो जाते है, इसका सेवन करने एक चम्मच मसुली पाउडर मिश्री और दूध के साथ रोज सुबह-शाम खाएं.

केसर का इस्तेमाल

Saffron
Saffron

केसर का इस्तेमाल करने से थकान, कमजोरी, इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, स्पर्म काउंट, जैसे दूर होते है,

इसका सेवन गुनगुने दूध में एक चुटकी भर केसर डालकर रात को सोने से पहले लें.

शतावर का इस्तेमाल

shatavari
shatavari

शतावर का इस्तेमाल करने के से थकान, कमजोरी, लो स्पर्म काउंट, यूरिन प्रॉब्लम और

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन जैसे दूर होते है, इसको एक-एक चम्मच मिश्री और गाय के घी में

आधा चम्मच शतावर का पाउडर मिला कर खाएं और, ऊपर से दूध पी लें.

भविष्य में आने वाली नयी  अपडेट से बने रहने के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) जरुरु करें.

नीचे दी गयी स्टोरी भी पढ़े:

मोटापा खत्म करने का बहुत ही आसान और मुफ्त तरीका अब तक किसी ने नहीं बताया होगा

यदि आप भी चाहते है की आपका बच्चा पढ़ाई के क्षेत्र में आगे हो तो करें ये काम

Author Profile

Ramgovind kabiriya
Ramgovind kabiriya
मैं रामगोविन्द कबीरिया मुझे लिखने का काफी शौक है, मैं कन्टेन्ट राइटिंग में पिछले तीन सालों से काम कर रहा हूॅं। मैंने इन्दौर के डीएवीवी यूनिवर्सटी से एम.ए. मासकम्युनिकेशन किया है। इसके अलावा मैंने कम्प्युटर के क्षेत्र से सम्बधित पीजीडीसीए भी किया है। मैं न्यूज़, फैशन, धर्म, लाईफस्टाइल, वायरल स्पाॅर्टस आदि सभी कैटेगिरी में लिखता हूॅं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *