Categories

Archives

बहुत ही कम लोग जानते हैं मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने की वजह..

72 Views

Makar sankranti patang भारत आस्था का प्रतीक है। यहां पर हर त्यौहार बड़ी ही धूम-धाम से मनाया जाता है। अब आने वाली 14 जनवरी भी भारतवासी के लिए एक अहम पर्व है। जी हां भारत के प्रमुख त्योहारों में शुमार मकर सक्रांति का पर्व प्रत्येक वर्ष जनवरी माह में मनाया जाता है। यह त्योहार आज से नहीं बल्कि प्राचीन समय से प्रचलित है।

Makar sankranti patang

परंपरा के अनुसार इस दिन आसमान में पतंगो का समूह दिखाई देता है। जिसको देखो वही अपने छत पर पतंग उड़ाते हुए नजर आता है। हालाकि यह तो सभी जानते हैं कि मकर सक्रांति के दिन पतंग उड़ाई जाती है, लेकिन यह पतंग क्यों उड़ाई जाती है इसके बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं अगर आप भी अब तक इस बात से अंजान हैं तो यहां पर आज हम आपसे इसी विषय के बारे में चर्चा करने वाले हैं।

यह भी पढ़े: #MakarSankranti लोगों की इन मान्यताओं से जुड़ा है मकरसंक्रांति का त्यौहार

मकर सक्रांति पर क्यों उड़ाई जाती है पतंग

Makar sankrati par kyon udate hai patang
Makar sankrati par kyon udate hai patang

मकर सक्रांति पर हर उम्र के लोग पतंग उड़ाने का आनन्द लेते हैं।

इतना ही नहीं बहुत सी जगहों पर तो पतंगोत्सव का भव्य आयोजन भी कराया जाता है।

या फिर पतंग उड़ाने को लेकर कई तरह कि प्रतियोगिता भी होती है।

लेकिन इसी दिन ही पतंग उड़ाने की आखिर क्या वजह हो सकती है?

दरअसल मकर सक्रांति के दिन अगर आप पतंग उड़ाते हैं,

तो यह आपके सेहत के लिए ठीक रहेगा।

शायद आप अब तक नहीं समझ पाए। तो चलिए आगे विस्तार से जानते हैं..

यह भी पढ़े: इस कारण मकर सक्रांति 14 जनवरी नहीं बल्कि 15 जनवरी को पड़ रही है..

 

Makar sankranti पर इसलिए उड़ाई जाती है पतंग

मकर सक्रांति पर पतंग उड़ाने हम सभी के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

जानकारी के लिए आपको बतादें कि पतंग उड़ाने को लेकर कोई धार्मिक कारण नहीं है,

लेकिन सेहत के मद्देनजर पतंग जरूर उड़ाई जाती है।

दरसअल यह मौसम सर्दी का होता हैद और बहुत से लोग अपने घरों में कम्बल में रहना पसन्द करते हैं,

लेकिन अगर आप Makar sankranti के दिन घर से बाहर निकल कर पतंग उड़ाते हैं,

तो यह आपकी सेहत के लिए काफी लाभदायक सिध्द होगा।

यह भी पढ़े: ठण्ड के वायरल से खुद को बचाने के ऐसे उपाय कोई नहीं बताएगा

पतंग उड़ाने के पीछे है मनोवैज्ञानिक कारण

makar sankranti patang के पर्व पर पतंग उड़ाने के पीछे कोई धार्मिक कारण नहीं अपितु मनोवैज्ञानिक पक्ष है।

पौष मास की सर्दी के कारण हमारा शरीर कई बीमारियों से ग्रसित हो जाता है,

जिसका हमें पता ही नहीं चलता। इस मौसम में त्वचा भी रुखी हो जाती है।

जब सूर्य उत्तरायण होता है तब इसकी किरणें हमारे शरीर के लिए औषधि का काम करती है।

पतंग उड़ाते समय हमारा शरीर सीधे सूर्य की किरणों के संपर्क में आ जाता है,

जिससे अनेक शारीरिक रोग स्वत: ही नष्ट हो जाते हैं।

यह भी पढ़े: सर्दियों में गुड़ का सेवन किसी अमृत से कम नहीं

All story image source from Google

लगातार ऐसी जानकारी पाने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी Desi Festival अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

जानकारी को सबसे पहले अपने दोस्तों तक पहुंचने के लिए नीचे दिए सोशल मीडिया की मदद ले और शेयर करे ।

इस तरह की खबरों को सबसे पहले पढ़ने के लिए ‘सब्सक्राइब’ करे।


Ramgovind kabiriya

मैं रामगोविन्द कबीरिया मुझे लिखने का काफी शौक है, मैं कन्टेन्ट राइटिंग में पिछले तीन सालों से काम कर रहा हूॅं। मैंने इन्दौर के डीएवीवी यूनिवर्सटी से एम.ए. मासकम्युनिकेशन किया है। इसके अलावा मैंने कम्प्युटर के क्षेत्र से सम्बधित पीजीडीसीए भी किया है। मैं न्यूज़, फैशन, धर्म, लाईफस्टाइल, वायरल स्पाॅर्टस आदि सभी कैटेगिरी में लिखता हूॅं।

Hide Related Posts