Navratri : तो इस वजह से हर साल इसी दिन मनाई जाती है नवरात्रि

1,127 Views

श्राध्द खत्म होते ही नवरात्री शुरू हो रही हैं, हर जगह अभी से ही नवरात्री की धूम देखने को मिल सकती है। जिसको देखा वही नवरात्री के बारे में जानने की कोशिश कर रहा है। हर घर में इसे लेकर तैयारिया शुरू हो रही हैं। 10 अक्टूबर से शुरू होेने वाली शरदीय नवरात्री अपने आप में एक महत्वपूर्ण स्थान रखती है यह वह समय होता है जब हर जगह सकारात्मक ऊर्जा से भरपूर रहती है। नवरात्री के दौरान माॅं दुर्गा के नौ अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है। जानकारी के लिए आपको बतादें की साल में दो बार नवरात्रि मनाई जाती है। पहला चैत्र मास में और दूसरी नवरत्रि अश्विन मास में।

डगमगाए हुए आत्मविश्वास को बनाये रखने के लिए करें बस ये उपाय

इस वजह से मनाई जाती है नवरात्रि

Navaratri is celebrated for this reason
Navaratri is celebrated for this reason

नवरात्रि तो वैसे सभी मनाते हैं नौ दिनों तक मां दुर्गा के नौ अलग-अलग स्वरूपों की पूजा भी करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि क्यों मनाई जाती है नवरात्रि। अगर आप अब तक इस बात से अनभिज्ञ है तो यहां पर हम आपको इसी के बारे में बताने जा रहे हैं दरअसल ऐसी मान्यता है कि शारदीय नवरात्रि की शुरूआत भगवान राम के द्वारा हुई थी। जब लंका पर विजय पाना था तब भगवान राम ने समुद्र किनारे लगातार 9 दिनों तक शक्ति की उपासना की थी। तभी से शरदीय नवरात्रि मनाने की परंपरा शुरू हुई है।

उल्लू का दिखना न करें नज़र अंदाज, ये आपको शुभ अशुभ का संकेत देता है

नौ दिन बाद मनाया जाता है दशहरा

Dussehra is celebrated after nine days
Dussehra is celebrated after nine days

नवरात्रि में नौ दिनों तक मां दुर्गा के अलग-अलग स्वरूप की पूजा करने के बाद शरदीय नवरात्रि में दसवें दिन दशहरा जिसे विजयादशमी भी कहते हैं। मनाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि 10वें दिन भगवान राम ने रावण का वध किया था इसी दिन अधर्म पर धर्म की जीत हुई थी। और इसी वजह से दशहरा पर रावण को जलाकर मारने की परंपरा भी शुरू हुई।

इन तीन महीनों में जन्मे लोग किस्मत साथ लेकर पैदा होते हैं

नवरात्रि पर जानें शुभ कार्य

वैसे तो नवरात्रि पूरे नौ दिनों तक शुभ मानी जाती है। शरदीय नवरात्रि में हर तरह के शुभ कार्य किए जा सकते हैं इसका हर समय शुभ माना जाता है। नवरात्रि के 9 दिन बहुत शुभ होते हैं इसमें किसी विशेष कार्य के लिए मुहूर्त देखने की जरूरत नहीं होती। इन खास दिनों पर लोग गृह प्रवेश और नई गाड़ियों के साथ कई नए सामान भी खरीदते हैं।

मोर पंख के फायदे जान आप भी इसे रखने लगेंगे अपने घर में

किस दिन होगी किस देवी की पूजा

10 अक्टूबर- नवरात्रि का पहला दिन- घट/ कलश स्थापना – शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी पूजा
11 अक्टूबर- नवरात्रि 2 दिन तृतीय- चंद्रघंटा पूजा
12 अक्टूबर- नवरात्रि का तीसरा दिन- कुष्मांडा पूजा
13 अक्टूबर- नवरात्रि का चौथा दिन- स्कंदमाता पूजा
14 अक्टूबर- नवरात्रि का 5वां दिन- सरस्वती पूजा
15 अक्टूबर- नवरात्रि का छठा दिन- कात्यायनी पूजा
16 अक्टूबर- नवरात्रि का सातवां दिन- कालरात्रि, सरस्वती पूजा
17 अक्टूबर- नवरात्रि का आठवां दिन-महागौरी, दुर्गा अष्टमी ,नवमी पूजन
18 अक्टूबर- नवरात्रि का नौवां दिन- नवमी हवन, नवरात्रि पारण
19 अक्टूबर- दुर्गा विसर्जन, विजयादशमी

हमारे सोशल परिवार का हिस्सा बनने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी News के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

नीचे दी गयी स्टोरी भी पढ़े:

आपको भी है अगर खुबसूरत लड़कियों की तलाश तो देश के ये तीन जगहों के बारे में जान लें..

Loss Of Wealth: घर में रखी तिजोरी भी धन की कमी का एक अहम् कारण होती है

क्या आप भी हाथ में कड़ा पहनने का रखते हैं शौक तो ये खबर जरूर पढ़ें..

लड़कियों की चाल से पहचाने उनके छिपे हुए कई राज़

Author Profile

Ramgovind kabiriya
Ramgovind kabiriya
मैं रामगोविन्द कबीरिया मुझे लिखने का काफी शौक है, मैं कन्टेन्ट राइटिंग में पिछले तीन सालों से काम कर रहा हूॅं। मैंने इन्दौर के डीएवीवी यूनिवर्सटी से एम.ए. मासकम्युनिकेशन किया है। इसके अलावा मैंने कम्प्युटर के क्षेत्र से सम्बधित पीजीडीसीए भी किया है। मैं न्यूज़, फैशन, धर्म, लाईफस्टाइल, वायरल स्पाॅर्टस आदि सभी कैटेगिरी में लिखता हूॅं।

Related posts

Leave a Comment