बहुत ही कम लोग जानते हैं वेलेंनटाइन डे मनाने की वजह

Very few people know the reason for celebrating Valentine's Day
320 Views

 

वेलेंनटाइन डे के बारे में तो वैसे सभी जानते हैं। यह प्रेमियों का दिन होता है, खास बात तो यह है कि इसे सिर्फ 14 तारीख को ही मनाया जाता है। तमाम प्रेमि युगल इस दिन को सेलिब्रेट करते हैं। लेकिन आज भी बहुत से ऐसे लोग हैं जो वेलेंनटाइन डे तो मनाते हैं,

लेकिन इसके मनाने के पीछे के कारण को नहीं जानते। हो सकता है कि आप भी इस लाइन में शामिल हों।

अगर आप भी नहीं जानते कि आखिर क्यों मनाया जाता है।

वेलेंन टाइन डे तो यहां पर आज हम आपको इसी दिन के बारे में बताने जा रहे हैं।

जहां आप यह जान पाएंगे कि इस वजह से मनाया जाता है वेलेंनटाइन डे।

वेलेंनटाइन डे का इतिहास

 

History of valentines day
History of valentine day

हर साल 14 फरवरी को ही वेलेंनटाइन डे मनाया जाता है इसके इतिहास की अगर बात करें तो इसके पीछे एक कहानी है।

जो इस प्रकार है वेलेंनटाइन डे एक व्यक्ति के नाम पर रखा गया है।

जिसका नाम वेलेंनटाइन था। इस प्यार के दिन की कहानी की शुरुआत प्यार से भरा हुआ नहीं है।

ये कहानी एक दुष्ट राजा और कृपालु संत वेलेंनटाइन के बिच हुए मुठभेड़ के बारे में है।

इस दिन की शुरुआत होती है Rome की तीसरी सदी से जहाँ एक अत्याचारी राजा हुआ करता था, जिसका नाम Claudius था।

Related  नवरात्री 2018ः नवरात्री के नौ दिन करें ये खास पूजा, मां भगवती खुद करेंगी आपकी मनोंकामना पूरी

Rome के राजा का ये मानना था की एक अकेला सिपाही एक शादी शुदा सिपाही के मुकाबले जंग के लिए एक उचित और प्रभावशाली सिपाही बन सकता है।

क्यूंकि शादी शुदा सिपाही को हर वक़्त बस इसी बात की चिंता लगी रहती है की उसके मर जाने के बाद उसके परिवार का क्या होगा,

और इसी चिंता से वो जंग में अपना पूरा ध्यान नहीं दे पाता है।

यही सोच कर Claudius राजा ने ऐलान किया की उसके राज्य का कोई भी सिपाही शादी नहीं करेगा।

और जिस किसी ने भी उसके इस आदेश का उलंघन किया तो उसे कड़ी सजा दी जाएगी।

वेलेंनटाइन गुप्त शादी करवा चुके थे

Valentine was secretly married

राजा के इस फैसले से सभी सिपाही दुखी थे और उन्हें ये भी पता था की ये फैसला गलत है।

लेकिन राजा के डर से किसी ने भी इसका उलंघन करने का हिम्मत नहीं किया।

और उनकी इस आज्ञा का पालन करने के लिए मजबूर हो गए।

लेकिन Rome के संत वेलेंनटाइन को ये ना इंसाफी बिलकुल मंजूर नहीं थी।

इसलिए उन्होंने राजा से छुपकर युवा सिपाहियों का मदद किया और उनकी शादी करवाने लेगे।

जो भी सिपाही अपने प्रेमिका से शादी करना चाहते थे,

वो वेलेंनटाइन के पास मदद मांगने जाते थे और वेलेंनटाइन उनकी मदद भी करते थे और उनकी शादी करवा देते थे।

इसी तरह वेलेंनटाइन ने बहुत से सिपाहियों की गुप्त शादी करवा चुके थे।

किन सच ज्यादा दिन तक नहीं छुपता किसी ना किसी दिन वो सबके सामने बाहार निकल कर आ जाता है।

Related  गणगौर पूजा 2018: मनपसंद पति की प्राप्ति के लिए किया जाता ये ख़ास व्रत, जानें इसके बारे में पूरी विधि

उसी तरह valentine के इस कार्य के बारे में भी Claudius राजा के कान में खबर पहुँच गयी।

वेलेंनटाइन ने राजा के आदेश का पालन नहीं किया,

इसलिए राजा ने वेलेंनटाइन को सजा-ए-मौत की सजा सुना दी और उन्हें जेल के अन्दर डाल दिया गया।

जेल के अन्दर वेलेंनटाइन

Valentine inside the prison

जेल के अन्दर वेलेंनटाइन अपनी मौत की तारीख का इंतज़ार कर रहे थे और एक दिन उनके पास jailor आया।

जिसका नाम Asterius था। Rome के लोगों का केहना था की वेलेंनटाइन के पास एक दिव्य शक्ति थी।

जिसके इस्तेमाल से वो लोगो को रोगों से मुक्ति दिला सकता था।

Asterius की एक अंधी बेटी थी और उसे वेलेंनटाइन के पास बसी जादुई ताकात के बारे में पता था।

इसलिए वो valentine के पास जाकर उनसे विन्नती करने लगा की।

उसकी बेटी की आँखों की रौशनी को अपने दिव्य शक्ति से ठीक कर दे।

वेलेंनटाइन एक नेक दिल के इंसान थे और वो सबकी मदद करते थे।

इसलिए उन्होंने jailor की भी मदद की और उनकी अंधी बेटी की आँखों को भी अपनी शक्ति से ठीक कर दिया।

14 फ़रवरी को मनाते हैं  वेलेंनटाइन डे

Valentine Day celebrates February 14th
Valentine’s Day celebrates February 14th

उस दिन के बाद से वेलेंनटाइन और वेलेंनटाइन के बेटी के बिच गेहरी दोस्ती हो गयी थी और वो दोस्ती कब प्यार में बदल गयी उन्हें पता ही नहीं चला. Asterius की बेटी को वेलेंनटाइन की मौत होने वाली है ये सोच सोच कर उसको गहरा सदमा लग गया था।

और आखिर कर वो दिन 14 फ़रवरी आ गया था जिस दिन valentine को फाँसी लगने वाली थी। अपनी मौत से पहले वेलेंनटाइन ने jailor से एक कलम और कगाज़ माँगा और उस कागज़ में उसने jailor की बेटी के लिए अलविदा सन्देश लिखा, पन्ने के आखिर में उसने “तुम्हारा वेलेंनटाइन” लिखा था, ये वो लफ्ज़ हैं जिसे आज भी लोग याद करते हैं।

Related  Ganesh Chaturthi : गौरी पुत्र गणेश की स्थापना करने से पहले ये बातें अपने दिमाग में उतार लें

वेलेंनटाइन के इस बलिदान के वजह से 14 फ़रवरी को उनके नाम से रखा गया और इस दिन को पूरी दुनिया में सभी प्यार करने वाले लोग वेलेंनटाइन को याद करते हैं और एक दुसरे के साथ प्यार बाँटते हैं। इस दिन को सभी प्यार करने वाल लोग अपने प्रेमी प्रेमिका को फुल, तोहफे और chocolates दे कर अपने प्यार का इजहार करते हैं।

All story image source from Google[/sociallocker]

हमारे सोशल परिवार का हिस्सा बनने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी Desi Festival News अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

जानकारी को सबसे पहले अपने दोस्तों तक पहुंचने के लिए नीचे दिए सोशल मीडिया की मदद ले और शेयर करे |

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

As you found this post useful...

Follow us on social media!

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Leave a Comment