महाशिव रात्रि के लिए हरिद्वार से कवड़यात्रा लौटने लगे, पंडालों में हुई तैयारियां

Kavadayutri returns to from Haridwar for Mahasivratri
378 Views

14 फरवरी को महाशिव रात्रि है. देश भर में यह त्यौहार बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है. यह भी सच है की भारत विविधताओं में एकता कहे जाने वाला देश है. इसलिए देश में अलग-अलग जगह से अलग-अलग कई तरीको से मनाया जाता है.

इस महा शिवरात्रि पर भगवान भोले नाथ पर जलाभिषेक करने के लिए कावड़यात्री

हरिद्वार से गंगा जल भरकर आमद से यहाँ पर रौनक चने लगी है.

शिविरों में कावड़यात्रियो का खास ख्याल रखा जा रहा है.

कई शिविरों में कलाकार भगवन शिव और पार्वती की वेशभूषा में मन को छू जाने वाले नृत्य प्रस्तुत कर रहे है.

कावड़यात्रियो के लिए महाशिव रात्रि पर तैयारी

रविवार की ही बात करे तो गजरोला मार्ग पर कावड़ यात्रियों की भीड़ देखी जा सकती है.

बदायूं व अलीगढ के शिव भक्तो के जत्थे बोल बेम का जयघोष पुरे नगर से होकर गुजरेगा.

सेवा शिविरों में नाश्ते और और अन्य सुविधा के चलते चिकित्सा की सुविधा भी रहेगी.

कलाकार शिव और पार्वती के रूप में लीलाये करेंगे. ब्लॉक ने नजदीकी व्यापारियों ने विशाल भंडारे का आयोजन भी किया है.

महाशिव रात्रि पर क्या करे

देश के कई जगहों पर शिव जी को गंगा जल से अभिषेक करवाने के लिए

कई लोग कावड़यात्रा कर उनका अभिषेक कर पुण्य कमाते है.

आपको बता दे इस दिन शिव जी पर अभिषेक करने का बड़ा महत्व रहता है.

भविष्य में आने वाली नयी  अपडेट से बने रहने के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) जरुरु करें.

नीचे दी गयी स्टोरी भी पढ़े:

कैंसर जैसी बड़ी से बड़ी बिमारी को रोजाना के ये 15 मिनट जड़ से खत्म कर देते हैं

आखिर क्यों बड़ा दी गयी मुंबई पुलिस ने सिंगर सोनू निगम की सुरक्षा ?

रुद्राक्ष के फायेदे जान अभी से धारण करने लगेंगे आप भी इसे

 

Author Profile

Prakash Panwar
Prakash Panwar
मैं एक फ्रीलॉंसर हिंदी कंटेंट राइटिंग करता है. मुझे टेक्नोलॉजी, एंटरटेनमेंट, पॉलिटिक्स और एजुकेशन जैसी बिट पर लिखना पसंद करता है. खाली समय में कंप्यूटर पढ़ना बहुत अच्छा लगता है. क्वालिफिकेशन की बात की जाये तो में बी-टेक कंप्यूटर साइंस से अध्यनरत हूँ.

Related posts

Leave a Comment