राधा कृष्ण की यह 16 बातें जो आज तक टीवी पर भी नहीं दिखायी

Prakash Panwar
117 Views

रक्षाबंधन के 8 दिन बाद जन्माष्टमी का त्यौहार मनाया जाता है। भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिन के दिन आप सभी लोग व्रत और उपवास भी रखते हैं। radha krishna ki baatein लोगो को भगवान श्री कृष्ण से जुड़ी बातें। सुनने में काफी अच्छी लगती हैं। ऐसे में भगवान श्री कृष्ण और राधा रानी का प्रेम भी सदियों से चर्चा में चला आ रहा है। तो चलिए आज हम आपको भगवान श्री कृष्ण और राधा से जुड़ी कुछ अनोखी बातें बताते हैं:

radha krishna ki baatein

श्री राधा कृष्ण में कौन बड़ा था

काफी लोगों को भगवान श्री कृष्ण और राधा जी के बारे में यह बात नहीं पता है। लेकिन हम आपको बता दें, राधा और भगवान श्रीकृष्ण की उम्र में काफी अंतर था। भगवान श्री कृष्ण राधा जी से छोटे थे। लेकिन फिर भी उन दोनों के बीच अत्यधिक प्रेम था। भगवान श्री कृष्ण का विवाह भले ही राधा से ना हुआ हो। लेकिन उनके प्रेम को सर्वोच्च स्थान प्राप्त है।

कितनी बड़ी थी श्रीकृष्ण से राधा radha krishna ki baatein

राधा जी के बारे में बताया जाता है, कि भगवान श्रीकृष्ण से 3 साल और 11 महीना बड़ी थी। यही बताया जाता है कि भगवान श्रीकृष्ण जब रासलीला की थी। तब उनकी उम्र 7 वर्ष की हुआ करती थी जब उन्होंने वृंदावन छोड़ा था। तब उस समय उनकी उम्र 11 वर्ष की थी।

क्यों छोड़ा राधा जी ने अपने पिता के घर

जब radha krishna ki baatein भगवान श्रीकृष्ण मथुरा चले गए थे। तो उस समय राधा जी अत्यंत दुखी हुआ करती थी। इस कारण से उन्होंने अपने प्रतिबिंब को अपने पिता वृक्ष मानव के घर छोड़ दिया था। वह स्वयं रासमंडल में निवास करने लगी थी माना जाता है। कि निधिवन ही वह स्थान था।

राधा जी को किसने दिया श्राप

भगवान श्री कृष्ण ने गोपियों के संग रासलीला किया करते थे। जब राधाजी रासमंडल में निवास करने चली गई। तब उनके पिता ने उनकी छाया का विवाह गोप नाम से कर दिया था। राधा जी को गोप ने श्राप दिया था। जिसके कारण राधा-कृष्ण ने 100 वर्षों तक शरीर का वियोग सहा।

radha krishna raslila photo
radha krishna raslila photo

श्री कृष्णा कैलाश मंडल की कहावत

बताया जाता है कि ना नौ मन तेल होगा ना राधा नाचेगी? जब भगवान श्रीकृष्ण रासमंडल में रास किया करते थे। जब 400 लीटर तेल के दीये जला करते थे। तब वहां रोशनी होती थी। मतलब महज श्रीकृष्ण के रासमंडल में उजाला करने के लिए 400 लीटर तेल के दीए जलाए जाते थे।

100 वर्षों के वियोग के बाद क्या हुआ राधा कृष्ण के मिलन का

शास्त्रों में बताया जाता है कि द्वापर युग के अंतिम सूर्य ग्रहण पर कुरुक्षेत्र में पूरे 100 साल बाद। राधा कृष्ण और गोपियों का एक बार फिर मिलन हुआ था। इसके बाद सभी गोपियां गोलोक में चली गई थी।

क्यों है भगवान श्री कृष्ण से पहले राधा का नाम

श्रीकृष्ण और राधा radha krishna ki baatein के अटूट प्रेम से संसार आज भी याद करता है।

इस कारण से भगवान श्रीकृष्ण और राधाजी के प्रेम को लोगों द्वारा उच्च स्थान प्राप्त किया है।

भगवान श्री कृष्ण के गुरु कौन थे

श्रीकृष्ण के गुरु सांदीपनि थे भगवान द्वारा अपने गुरु को ऐसी दक्षिणा दी गई थी। जो शायद किसी भी गुरु को नहीं मिली थी। श्री कृष्ण द्वारा अपने गुरु को उनका मरा हुआ बेटा गुरु दक्षिणा के रूप में दिया था।

देवकी के छह पुत्रों का जन्म कहां हुआ

यह बहुत कम ही लोग जानते हैं कि जब भगवान श्रीकृष्ण ने देवकी के छह मरे हुए बच्चों को वापस बुलाया था।

श्रीकृष्ण द्वारा देवकी वासुदेव की मुलाकात उनके 6 मृत बच्चों से भी करवाई थी।

यह 6 बच्चे हिरनाकश्यप के पुत्र थे जो एक साथ में जी रहे थे।

animated pic of radha krishna
animated pic of radha krishna

कैसे हुई गोवर्धन पूजा की शुरुआत

प्राचीन काल में गोकुलवासी शरद के आगमन के अवसर पर इंद्र की पूजा किया करते।

उनका विश्वास था कि इंद्र की कृपा से बारिश अच्छी होगी।

जिसके परिणाम स्वरूप पानी गिरता था।

कृष्णा और बलराम द्वारा इंद्र की पूजा का विरोध किया। और गोवर्धन की पूजा का अवलोकन किया।

इस प्रकार एक और कृष्ण ने इंद्र के काल्पनिक महत्व को बढ़ाने का काम किया।

वहीं दूसरी और बलदेव ने हल लेकर खेती में वृद्धि के साधनों को खोज निकाला।

पुराण यह भी बताते हैं कि इस कारण से इंद्र उन पर नाराज हो गए।

और उसने इतनी अधिक बारिश की हाहाकार मच गया।

लेकिन कृष्ण ने बुद्धि कौशल से गिरी द्वारा गोपी गांव आदि की रक्षा की।

जिस प्रकार से इंद्र की पूजा के स्थान पर अब गोवर्धन पूजा की स्थापना की गई।

भगवान श्री कृष्ण ने द्रोपदी का चीर हरण क्यों बचाया

भरे दरबार में द्रोपति के चीर हरण के समय पर भगवान श्री कृष्ण ने साड़ी बड़ाई, यह बात सभी जानते थे।

लेकिन इसके पीछे की कहानी शायद कुछ लोग ही जानते हो।

श्री कृष्ण द्वारा शिशुपाल का वध अपने सुदर्शन चक्र से किया था।

जिस कारण से उनकी उंगली थोड़ी सी कट गई थी।

उस समय द्रोपति ने अपनी साड़ी का पल्ला फाड़कर श्री कृष्ण को बांधी थी।

तभी से ही कृष्ण ने उसे कहा था कि द्रोपति में तुम्हारे कर्ज का सूत समेत उतार दूंगा।

राधा का जन्म कहां हुआ था

मान्यता यह है कि रावल गांव मथुरा में राधा रानी का जन्म हुआ था।

उनका जन्म कमल के ऊपर हुआ था।

ऐसा बताया जाता है कि यहां यमुना नदी 5000 वर्ष से पूर्व ही बह रही है।

shri krishna ne dropadi ki sadi kyo badi
shri krishna ne dropadi ki sadi kyo badi

कैसे हुआ श्री राधा रानी का जन्म

शास्त्रों की मानें तो राधा जी की मां कृति यमुना नदी में नहाने के बाद पुत्री प्राप्त होने की कामना करती थी। एक दिन पूजा करते वक्त यमुना जी के अंदर से कमल का फूल निकला। जो सोने कि तरह चमक रहा था। जब पास जाकर के देखा, तो वह कमल का फूल खिल गया। और उसके अंदर एक नन्ही बच्ची आंखें बंद कर कर मौजूद थी।

कितने महीने बाद खोली श्री राधा रानी ने अपनी आंखें

बताया जाता है कि सर्वप्रथम कृष्ण का नाम सुनते ही राधा रानी ने अपनी आंखें खोली थी।

गांव बरसाने की क्या है कहानी

उस समय कंस के डर से लोग घर से पलायन करके पहाड़ी पर चले गए थे। राधा और उसकी मां भी पहाड़ी पर चले गए। जिसके बाद वह पहाड़ी वाला गांव बरसाने के नाम में बदल गया।

क्या है राधा कृष्ण के प्यार का वर्तमान में सबूत

बरसाने गांव में आज यह बगीचा मौजूद है। जहां पर राधा कृष्ण के नाम का एक बगीचा है। यहां पर दो पेड़ मौजूद है। जिसमें से एक पेड़ श्वेत रंग का है। जबकि दूसरा पेड़ श्याम रंग का है।

All story image source from Google

लगातार ऐसी जानकारी पाने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी Religion अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए। नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

जानकारी को सबसे पहले अपने दोस्तों तक पहुंचने के लिए नीचे दिए सोशल मीडिया की मदद ले और शेयर करे ।

इस तरह की खबरों को सबसे पहले पढ़ने के लिए ‘सब्सक्राइब’ करे।


Author Profile

Prakash Panwar
Prakash Panwar
मैं एक फ्रीलॉंसर हिंदी कंटेंट राइटिंग करता है. मुझे टेक्नोलॉजी, एंटरटेनमेंट, पॉलिटिक्स और एजुकेशन जैसी बिट पर लिखना पसंद करता है. खाली समय में कंप्यूटर पढ़ना बहुत अच्छा लगता है. क्वालिफिकेशन की बात की जाये तो में बी-टेक कंप्यूटर साइंस से अध्यनरत हूँ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

1 से 60 महीने के बच्चों को क्या-क्या खिलाये (गाइड)

Pin2TweetShare7678 Shares 117 Viewsआज के आधुनिक युग में वयस्कों के साथ-साथ बच्चों में मोटापा देखने को मिलेगा। जब बच्चों का शरीर व मानसिक विकास सही तरीके से नहीं होगा। तो वह जिंदगी इस भागदौड़ में खुद को मजबूत कैसे कर पाएंगे। इसके लिए बच्चों को खास तरह का पोषक तत्व […]
bachon ka khana

Subscribe US Now