So, Lord Ganesha likes Modak, what is the reason behind it

तो इसलिए भगवान गणेश को पसंद है मोदक, जानें इसके पीछे क्या कारण है 

Religion
404 Views

हिन्दू धर्म में बहुत से देवी देवताओं की पूजा की जाती है लेकिन जब व्यक्ति कोई भी शुभ कार्य प्रारंभ करता है या कोई धार्मिक अनुष्ठान करता है तो सबसे पहले भगवान गणेश जी का नाम लेता है. भगवान गणेश जी को शुभता का प्रतीक माना जाता है यदि भगवान गणेश जी का नाम लेकर कोई शुभ कार्य प्रारंभ किया जाता है तो वह कार्य निर्विघ्न पूर्ण होता है.

विघ्नहर्ता के नाम से भी जाना जाता

Lord Ganesha also known as Vighahnharta
Lord Ganesha also known as Vighahnharta

भगवान गणेश को विघ्नहर्ता के नाम से भी जाना जाता है जो सभी के विघ्न को दूर करते है भगवान गणेश सभी देवों में प्रथम पूज्य है महाराष्ट्र व गोवा राज्य में भगवान गणेश को मुख्य रूप से पूजा जाता है व वर्ष में एक बार आने वाली विनायक चतुर्थी के त्यौहार को बड़े ही धूम धाम के साथ मनाया जाता है. जो भी भक्त भगवान गणेश को मोदक का प्रसाद चढ़ाता है उसकी सभी मनोकामना पूर्ण होती है.

भगवान गणेश को मोदक सबसे अधिक प्रिय है

Modak is the most beloved to Lord Ganesha
Modak is the most beloved to Lord Ganesha

हिन्दू धर्म शास्त्रों व पुराणों में इस बात का उल्लेख किया गया है की भगवान गणेश को मोदक सबसे अधिक प्रिय है इसी कारण से उन्हें मोदकप्रिय के नाम से भी जाना जाता है. भगवान गणेश को मोदक का भोग क्यों लगाया जाता है व उन्हें मोदक क्यों प्रिय है इसके पीछे एक पौराणिक कथा है आइये जानते है.

कथा के अनुसार

Learn about this story
Learn about this story

एक बार भगवान शिव व माता पार्वती भगवान गणेश के साथ देवी अनुसुइया के आश्रम पहुंचे. उस समय तीनों को बहुत भूख लगी थी देवी अनुसुइया ने सर्वप्रथम भगवान गणेश को भोजन परोसा और भगवान शिव व माता पार्वती को यह कहा की जब तक भगवान गणेश की भूख मिट नहीं जाती आपको प्रतिक्षा करना होगा.

तो इसलिए भगवान गणेश को प्रिय है मोदक

So, Lord Ganesha is dear to Modak
So, Lord Ganesha is dear to Modak

भगवान गणेश भोजन कर रहे थे लेकिन उनकी भूख शांत ही नहीं हो रही थी तब देवी अनुसुइया ने भगवान गणेश को मिठाई का एक टुकड़ा दिया जिसका सेवन करने के बाद भगवान गणेश का पेट भर गया. जिसे देखकर माता पार्वती को हैरानी हुई और उन्होंने देवी अनुसुइया से इस मिठाई का मान पूंछा तब देवी अनुसुइया ने इसका नाम मोदक बताया जो भगवान गणेश को अधिक प्रिय लगा. तभी से भगवान गणेश को मोदक अधिक प्रिय है.

हमारे सोशल परिवार का हिस्सा बनने के लिए आगे दिए सोशल मीडिया पर क्लिक कर फॉलो करें: FACEBOOK व TWITTER

भविष्य में आने वाली नयी सरकारी जॉब्स के अपडेट से बने रहने के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) जरुर करें.

नीचे दी गयी स्टोरी भी पढ़े:

भारत का यह ख़ास मंदिर जहाँ माता खुले में विराजमान है, जानें आखिर क्यों इस मंदिर की छत नहीं है

नवरात्री 2018ः क्यों की जाती है माता के दुसरे स्वरुप ब्रह्मचारिणी की आराधना, जानें इसके पीछे कि कहानी

यहां देखें मार्केट से कम कीमत में शॉपिंग प्रोडक्ट्स

[amazon_link asins=’B01IFR8Z10,B01BHP47MI,B072HFQJ38′ template=’ProductCarousel’ store=’desidozz20-21′ marketplace=’IN’ link_id=’d85880ca-2f09-11e8-abf6-073dfccb0281′]

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

As you found this post useful...

Follow us on social media!

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Author Profile

Ramgovind kabiriya
Ramgovind kabiriya
मैं रामगोविन्द कबीरिया मुझे लिखने का काफी शौक है, मैं कन्टेन्ट राइटिंग में पिछले तीन सालों से काम कर रहा हूॅं। मैंने इन्दौर के डीएवीवी यूनिवर्सटी से एम.ए. मासकम्युनिकेशन किया है। इसके अलावा मैंने कम्प्युटर के क्षेत्र से सम्बधित पीजीडीसीए भी किया है। मैं न्यूज़, फैशन, धर्म, लाईफस्टाइल, वायरल स्पाॅर्टस आदि सभी कैटेगिरी में लिखता हूॅं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *