Categories

Archives

vaishno devi story हैरान कर देने वाला है माता वैष्णो देवी की पिंडियों का रहस्य

815 Views

भारत में बहुत से मंदिर है जिनकी अलग-अलग विशेषता और रहस्य है आज हम आपको इन्ही मंदिरों में से एक प्रसिद्ध मंदिर माता vaishno devi story के मंदिर में विराजित तीनों पिंडियों का महत्व एवं इनसे जुड़ी कथा के विषय में बताने वाले है. वैष्णो देवी का मंदिर जम्मू राज्य के कटरा में स्थित है इस मंदिर में तीन अलौकिक मूर्तियाँ विराजमान है जिन्हें तीन देवियों का प्रतीक माना जाता है.

यह भी पढ़े:  बना रहे अगर वैष्णो देवी जाने का प्लान तो पहले जान लें यह नियम और जरूरी बातें..

mata vaishno devi ki pindi ke bare me hindi me jankari
mata vaishno devi ki pindi ke bare me hindi me jankari

पहली पिंडी को ज्ञान और बुद्धि की देवी सरस्वती का प्रतीक मानते है. दूसरी पिंडी को धन सम्रद्धि की देवी लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है तथा तीसरी पिंडी शक्ति की देवी माता काली का प्रतीक माना जाता है. व्यक्ति अपनी इन्ही तीनो कामनाओं की पूर्ती के लिए इस मंदिर में माता के दर्शन करने आते है और माता इनकी सभी मनोकामना पूर्ण करती है.

vaishno devi story माता वैष्णो की पौराणिक कथा

Mata-Vaismata vaishno devi ka ashirwad dete huye photohno
mata vaishno devi ka ashirwad dete huye photo

vaishno devi story कटरा के पास करीब 2 किलोमीटर की दूरी पर हंसाली गाँव में माता वैष्णवी के परम भक्त श्रीधर निवास करते थे श्रीधर के कोई भी संतान नहीं थी इससे वह बहुत दुखी रहते थे और हमेशा माता की आराधना करते रहते थे. एक समय नवरात्रि के दिनों में वह कंजक पूजा कर रहे थे तब माता वैष्णवी ने कन्या रूप धारण कर श्रीधर के घर में प्रवेश किया. पूजन समाप्ति के बाद सभी कन्याएँ अपने घर चली गई लेकिन कन्या रूप में माता वैष्णवी वहीँ उपस्थित थी. और उन्होंने श्रीधर को नगर भंडारा करने को कहा. यह बात सुनकर श्रीधर चिंतित हो गया उसके मन में यही विचार आ रहा था की इतने बड़े नगर को किस प्रकार भंडारा कराउँगा.

माता वैष्णो देवी की पिंडियों का रहस्य

pahadi par mata vaishno devi ka mandir
pahadi par mata vaishno devi ka mandir

किन्तु माता के आश्वाशन पर श्रीधर ने सम्पूर्ण नगर में भंडारे का आमंत्रण दे दिया जिसमे उसने बाबा गोरखनाथ व उनके शिष्य भैरवनाथ को भी भंडारे में आमंत्रित किया.

भंडारे के दिन श्रीधर के घर भंडारे की सभी खाद्य सामग्री प्रचुर मात्रा में उपलब्ध थी.

भंडारा प्रारंभ हुआ सभी प्रेम पूर्वक भोजन कर रहे थे किन्तु भैरवनाथ यह सब देखकर प्रसन्न नहीं था.

उसने भंडारे में मांस और मदिरा की मांग की.

जिसपर सभी ब्राम्हणों ने उसकी इस अनुचित मांग के इए उसे बहुत समझाया.

किन्तु वह नहीं माना और उसने माता को पकड़ने की कोशिश की.

जिससे माता तुरंत अंतर्ध्यान हो गई तथा त्रिकूट पर्वत की और प्रस्थान किया.

उस समय भैरवनाथ उनका पीछा कर रहा था.

माता ने एक गुफा में जाकर नौ माह तक तपस्या की.

इस बीच में हनुमान जी उस गुफा की पहरेदारी कर रहे थे.

आज के समय में इस गुफा को अर्धकुआंरी के नाम से जाना जाता है.

maa vaishno ke mandir ki photo
maa vaishno ke mandir ki photo

उस गुफा की पहरेदारी करते समय हनुमान जी की प्यास बुझाने के लिए

माता ने अपने बाण से जमीन के अन्दर से एक जलधारा निकाली.

जिसे आज के समय बाणगंगा के नाम से जाना जाता है.

नौ माह पूर्ण होने के पश्चात गुफा से निकलकर भैरवनाथ का वध किया.

जब माता ने भैरवनाथ का सिर काटा तो वह भवन से 8 किलोमीटर दूर जाकर गिरा.

जिसे आज भैरव घाटी के नाम से जाना जाता है. कहा जाता है की

#DesiDozz

vaishno devi story माता वैष्णवी ने भैरवनाथ को आशीर्वाद दिया था,

 जो भी भक्त मेरे दर्शन को आयगा उसे भैरवनाथ के दर्शन करना आवश्यक होगा.

तभी उसकी यात्रा पूर्ण होगी. इसके पश्चात माता तीन पिंडियों के रूप में ध्यान में लीं हो गई.

यह भी पढ़े:  नवरात्री में क्यों की जाती है माता के दुसरे स्वरुप ब्रह्मचारिणी की आराधना, जानें इसके पीछे कि कहानी

All story image source from Google

हमारे सोशल परिवार का हिस्सा बनने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी Religion अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

जानकारी को सबसे पहले अपने दोस्तों तक पहुंचने के लिए नीचे दिए सोशल मीडिया की मदद ले और शेयर करे |

इस तरह की खबरों को सबसे पहले पढ़ने के लिए ‘सब्सक्राइब’ करे।


Ramgovind kabiriya

मैं रामगोविन्द कबीरिया मुझे लिखने का काफी शौक है, मैं कन्टेन्ट राइटिंग में पिछले तीन सालों से काम कर रहा हूॅं। मैंने इन्दौर के डीएवीवी यूनिवर्सटी से एम.ए. मासकम्युनिकेशन किया है। इसके अलावा मैंने कम्प्युटर के क्षेत्र से सम्बधित पीजीडीसीए भी किया है। मैं न्यूज़, फैशन, धर्म, लाईफस्टाइल, वायरल स्पाॅर्टस आदि सभी कैटेगिरी में लिखता हूॅं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hide Related Posts