मुक्केबाजी में भारत को गोल्ड मेडल दिलाने वाले यह सुरमा

indian boxing gold medalist amit panghal
145 Views

This anthem, which gives India gold medal in boxing

देश इंडोनेशिया के जकार्ता और पालेमबांग चल रहे, एशियाड गेम्स के अंदर इस भारतीय ने रच डाला इतिहास. हम बात कर रहे हैं, Indian boxing अमित पंघाल की जिसने मैच 22 साल की उम्र 18 वे एशियाड बॉक्सिंग का Gold भारत की झोली में डाला.

आखिर कौन है, यह अमित पंघाल और क्या है इनके संघर्ष के पीछे की कहानी. तो चलिए जानते हैं:

भारत में मुक्केबाजी खेल

मुक्केबाजी खेल भारत में काफी मजबूत पक्ष रहा है. यहां के एथलेटिक्स भारत को गोल्ड दिलाने का दम रखते हैं.

इससे पहले भारतीय मुक्केबाज फाइनल में अपनी जगह नहीं बना पाएं.

विराट की सेल्फी पर फैन का आया मजेदार कमेंट

लेकिन हरियाणा के रोहतक के इस लाल ने फाइनल मैच खेला बल्कि उस मैच में जीत के झंडे भी गाड़ दिए.

boxer amit panghal in asian games 2018
boxer amit panghal in asian games 2018

18वे एशियाड Indian boxing का फाइनल मैच

मुक्केबाजी का यह फाइनल मैच पंघाल और रियो ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट उजबेकिस्तान के एथलेटिक हसनबॉय दुश्मातोव के साथ था.

मैच की शुरुआत के 1 मिनट के अंदर ही मुक्के बरसाकर विरोधी को कड़ी चुनौती दी.

Video: ट्रेन में टॉयलेट के पानी से बनी चाय वाली वायरल खबर

दूसरा राउंड एशियाड का फाइनल मैच Indian boxing

फाइनल मैच में पंघाल ने दमदार परफॉर्मेंस के चलते रोहतक के भी लोगों को यह विश्वास हो गया कि अब यह इतिहास रच चुके हैं.

जिसका परिणाम पंघाल के पक्ष में गया. भारत के लिए यह 14 गोल्ड मेडल था.

उसके बाद भारत के पास अब 23 सिल्वर, 29 ब्रॉन्ज मेडल  के साथ कुल मेडल 66 हो गए हैं.

amit panghal in 14 day of asian games 2018
amit panghal in 14 day of asian games 2018

कौन है मुक्केबाज अमित पंघाल

वर्ष 2018 से भारतीय सेना में जेसीओ पद पर कार्यरत अमित पंघाल का जन्म 16 अक्टूबर 1995 में हुआ.

#Photoshoot: बड़े ग्लास और छोटी बिकनी में दिखीं Shama Sikander

2018 का यह वही साल था, जब कॉमनवेल्थ गेम्स में अमित ने सिल्वर मेडल जीतकर देश का नाम रोशन किया.

जिन्होंने अब गोल्ड मेडल जीतकर अपने मां-बाप का सर भी फक्र से ऊंचा किया.

उम्मीद लगाई जा रही है कि वह 2020 में आने वाले ओलंपिक में भी गोल्ड मेडल लेकर आएं.

asian games 2018 boxing final match with gold
asian games 2018 boxing final match with gold

Indian boxing अमित पंघाल का पारिवारिक माहौल

पंघाल का जन्म एक किसान परिवार में वह पैदा हुए. जिनके पिता किसान और बड़े भाई अजय उन्हीं की तरह भारतीय सेना में कार्यरत हैं.

भोजपुरी के इस भजन ने मचाई इन शहरों में धूम

बॉक्सिंग मिलने वाला यह रुतबा उन्हें अपने भाई अजय के प्रेरित करने के बाद ही प्राप्त हुआ.

उनकी सलाह और निर्देशों पर कड़ी मेहनत करके आज उनका या बेहतरीन प्रदर्शन देखने को मिला.

मुक्केबाजी में भारत को गोल्ड मेडल

देश को एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले आखरी मुक्केबाजों विजेंदर सिंह और विकास कृष्णन का नाम शामिल है.

सन 2010 में हुए ग्वांग्जू एशियाई खेल में भारत को स्वर्ण पदक दिलवाया था.

लेकिन इस बार विकास को 75 किलोग्राम भार में कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा.

आपको बता दें , ठीक 4 साल पहले 2014 में ऐसे ही खेलों में एम सी मेरीकोम ने भारत को गोल्ड मेडल जीतने का गौरव महसूस करवाया.

All story image source from Google

हमारे सोशल परिवार का हिस्सा बनने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी Sports News अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

नीचे दी गयी स्टोरी भी पढ़े:

#Fifaworldcup2018 लोगों में ही नहीं बल्कि नेताओं में भी है दीवानगी

कड़ी सुरक्षा के बाद धोनी की पत्नी साक्षी को क्यों चाहिए पिस्तौल

Video: आम्रपाली के बाद वायरल हुआ इस एक्ट्रेस का बेली डांस

Author Profile

Prakash Panwar
Prakash Panwar
मैं एक फ्रीलॉंसर हिंदी कंटेंट राइटिंग करता है. मुझे टेक्नोलॉजी, एंटरटेनमेंट, पॉलिटिक्स और एजुकेशन जैसी बिट पर लिखना पसंद करता है. खाली समय में कंप्यूटर पढ़ना बहुत अच्छा लगता है. क्वालिफिकेशन की बात की जाये तो में बी-टेक कंप्यूटर साइंस से अध्यनरत हूँ.

Related posts

Leave a Comment