ghar ka mandir kaisa ho

घर में मंदिर स्थापना को लेकर इन बातों को कंठस्थ कर लें वरना मुसीबतें घेर लेंगी

Vastu Shastra
2,019 Views

आज के समय में लोगो के पास टाईम नहीं है वह खुद को समय नंही दे पाते ऐसे में वह आखिर कैसे मंदिर जा सकते हैं? लेकिन लोगो ने इसका भी समाधान ढूंढ लिया है। ghar ka mandir kaisa ho जी हां अब वह अपने घरो में ही मंदिर की स्थापना करने लगे हैं। देखा जाए तो यह घर की स्थिती के हिसाब से ठीक भी है।

इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का स्थान पूरी तरह से खत्म हो जाता है लेकिन इसके लिए जरूरी है कि आप अपने घर में सही तरीके से मंदिर का निर्माण कर उसकी स्थापना करें। आज हम आपसे कुछ इसी सिलसिले पर चर्चा करने वाले हैं। तो चलिए जानते हैं कि आखिर कैसे हम अपने घर में मंदिर का निर्माण कर सकते हैं?

फेंगशुई के अनुसार जानें कछुआ रखने की सही दिशा तब ही होगा फायदा

घर में मंदिर होने के फायदे

Benefits of having a temple at home
Benefits of having a temple at home

अगर आप अब तक घर में मंदिर होने के फायदों से अंजान है तो ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है,

क्योंकि यहां पर हम आपको इसके फायदे के साथ मंदिर स्थापना के बारे में भी बताने जा रहे हैं।

ghar ka mandir kaisa ho

अगर आप वास्तुशास्त्र के अनुसार अपने घर में मंदिर की स्थापना करते हैं।

  • तो इससे आपके घर में माता लक्ष्मी की हमेशा कृपा बनी रहेगी।
  • इतना ही नहीं आपका घर निंरतर हंसता खेलता रहेगा।

तो चलिए जानते हैं घर मे मंदिर स्थापित करने के बारे में….

वास्तुशास्त्र के अनुसार बाथरूम में लगे नल से टपकता पानी मुसीबतों की जड़ होता है

घर में मंदिर स्थापना से पहले ध्यान रखें

घर में मंदिर का स्थान अपने आप में काफी अहमियत रखता है। यह घर का वह हिस्सा होता है,

जहां जाने के बाद आपको अपने मन में शांति का अनुभव होता है।

इसलिए घर में मंदिर निर्माण से पहले सही दिशा के बारे में जान लेना उचित होगा।

यह घर में रहने वाले हर सदस्य के लिए भी फायेमंद होता है। इसलिए वास्तुशास्त्र के अनुसार ही घर में मंदिर की स्थापना करें।

इस दिशा में लगी घड़ी ही आपकी किस्मत बदल देती है

घर में मंदिर स्थापना की दिशा जान लें ghar ka mandir kaisa ho

अगर आप घर में मंदिर स्थापित कर रहे हैं तो यह जान लें कि वास्तुशास्त्र के अनुसार,

भगवान के लिए उत्तर-पूर्व की दिशा श्रेष्ठ मानी गई है। इस दिशा में पूजा घर स्थापित करें।

यदि मजबूरी वश किसी और दिशा में मंदिर स्थापित है तो घर के हर सदस्य को ध्यान रखना चाहिए,

कि पानी पीते समय अपना मुंह ईशान कोण यानि उत्तर-पूर्व दिशा की ओर रखें।

घर में रखा ये पौधा खुशहाली का संकेत है लेकिन अगर सूख जाए तो..

पूजा घर के ऊपर या नीचे ये चीजें नहीं होना चाहिए

पूजा घर अगर आप बनवाना चाहते हैं या फिर आपके घर में पहले से ही इसकी स्थापना है,

तो यह बात सुनिश्चित कर लें कि कंही आपके पूजा घर के ऊपर या नीचे की मंजिल पर शौचालय या रसोईघर तो नहीं है।

और न ही इनकी दीवारों से सटा होना चाहिए। अगर ऐसा है तो यह नकारात्म ऊर्जा का सूचक होता है।

अब घर को सजाना हो तो करें वास्तु का इस्तेमाल, सकारात्मक ऊर्जा से भरा रहेगा आपका घर

इन बातों को कंठस्थ कर लें

अगर आप अपने घर में पूजा घर स्थापित करना चाहते हैं तो कुछ ऐसी बातें हैं,

जिनको कंठस्थ कर लेना ही उचित होता है। उसमें से सबसे पहले यह बात है,

कि कभी भी सीढ़ियों के नीचे पूजा घर नहीं होना चाहिए। पूजा घर को तहखाने में बनवाने से घर में दरिद्रता आती है।

यदि आपका घर दो-तीन मंजिला है, तो पूजा घर हमेशा ग्राउंड फ्लोर पर ही बनाएं।

All story image source from Google

हमारे सोशल परिवार का हिस्सा बनने के लिए आगे दिए सोशल बटन पर लाइक तथा फॉलो जरूर करे:

और

भविष्य में आने वाली नयी Vastu Shastra अपडेट के लिए सीधे हाथ पर दिए नोटिफिकेशन को चालू (allow) और डाउनलोड करे फ़ास्ट Mobile App .

जानकारी को सबसे पहले अपने दोस्तों तक पहुंचने के लिए नीचे दिए सोशल मीडिया की मदद ले और शेयर करे |

इस तरह की खबरों को सबसे पहले पढ़ने के लिए ‘सब्सक्राइब’ करे।


Author Profile

Ramgovind kabiriya
Ramgovind kabiriya
मैं रामगोविन्द कबीरिया मुझे लिखने का काफी शौक है, मैं कन्टेन्ट राइटिंग में पिछले तीन सालों से काम कर रहा हूॅं। मैंने इन्दौर के डीएवीवी यूनिवर्सटी से एम.ए. मासकम्युनिकेशन किया है। इसके अलावा मैंने कम्प्युटर के क्षेत्र से सम्बधित पीजीडीसीए भी किया है। मैं न्यूज़, फैशन, धर्म, लाईफस्टाइल, वायरल स्पाॅर्टस आदि सभी कैटेगिरी में लिखता हूॅं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *